‘मथुरा की जनता ने फिर भेजा हेमामालिनी को संसद

Spread the love

नई दिल्ली। मथुरा से भाजपा प्रत्याशी हेमामालिनी ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी रालोद के कुंवर नरेंद्र सिंह को करीब 2.93 लाख वोटों से हराया। चुनाव आयोग की वेबसाइट के मुताबिक हेमामालिनी ने सिंह को दो लाख 93 हजार 471 वोटों से हराया हैं। भाजपा की हेमामालिनी को छह लाख 71 हजार 293 वोट मिले जबकि सिंह को तीन लाख 77 हजार 822 वोट मिले। कांग्रेस के महेश पाठक को 28 हजार 84 वोट मिले। 2014 में हेमामालिनी इस सीट से विजयी रही थी।

लोकसभा चुनाव 2014 में उत्तर प्रदेश की मथुरा लोकसभा सीट पर 2014 में बीजेपी नेता और मशहूर अभिनेत्री हेमा मालिनी ने आरएलडी नेता जयंत चौधरी को चुनावी रण में पटखनी दी थी। हेमा मालिनी ने जयंत चौधरी को 3,30,743 वोटों से हराया था। साल 2014 में आरएलडी दूसरे, बीएसपी तीसरे और सपा चौथे नंबर पर रही थी। मथुरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं। 2014 के आंकड़ों के अनुसार मथुरा लोकसभा क्षेत्र में कुल 17 लाख मतदाता हैं, इनमें 9.3 लाख पुरुष और 7 लाख से अधिक महिला वोटर हैं।

बता दे कि इस सीट के इतिहास को देखें तो शुरुआती चुनावों में यहां कांग्रेस का दबदबा रहा था। साल 1952 में हुए पहले लोकसभा चुनाव में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के चौधरी दिगंबर सिंह ने यहां जीत हासिल की थी, वो दो बार और इसी सीट से जीते, 1967 के चुनाव में निर्दलीय नेता गिरिराज सरन सिंह यहां के सांसद बने। साल 1971 में फिर से मथुरा सीट कांग्रेस नेता चकलेश्वर सिंह मथुरा के सांसद बने। इसके बाद 1977 भारतीय लोकदल के नेता मणि राम बागरी भारी मतों से विजयी हुए।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *