अमेरिकी मैगजीन ने किया दावा गलवान में मारे गए थे 60 से ज्यादा चीनी सैनिक

Spread the love

वॉशिंगटन। भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा संघर्ष में एक अमेरिकी पत्रिका ने दोनों सेनाओं के बीच गलवान घाटी पर हाल ही में हुई भिड़ंत के कुछ दिलचस्प तथ्यों का खुलासा किया है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि चीनी सेना भारतीय सीमा में घुसपैठ की गतिविधियों में हमेशा से ही लिप्त रही हैं, जिस पर भारतीय सेना ने हर बार जवाबी कार्रवाई की है।

अमेरिकी मैगजीन न्यूजवीक ने साफ़ किया है कि दोनों देशो के बीच चल रही तनातनी में भारत जिम्मेदार नहीं है, वास्तव में चीनी प्राइमर शी जिनपिंग भारत-चीन के बीच तनाव की मुख्य वजह है। मैगजीन के अनुसार चीनी सेना जिनपिंग के निर्देशों पर फिर से भारतीय क्ष्रेत्र में घुसपैठ की कोशिश कर सकती है।

अमेरिकी पत्रिका ने कहा है कि हाल ही में एलएसी पर चीनी सेना की घुसपैठ को रोकने की कोशिश में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे, इस पूरी घटना में चीनी सरकार ने उनकी तरफ से हताहतों का विवरण नहीं दिया है। आपको बता दे कि मैगजीन के अनुसार इस पूरी घटना में
बड़ी संख्या में चीनी सैनिक मारे गए थे। मैगजीन ने दावा किया है कि चीन के कम से 43 सैनिक ढेर हुए थे। हालांकि अन्य स्रोतों के मुताबिक ये संख्या 60 से भी अधिक हो सकती है।

फाउंडेशन फॉर डिफेंस ऑफ डेमोक्रेसीज के क्लियो पास्कल के मुताबिक भारतीय सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में 60 से ज्यादा चीनी सैनिक हताहत हुए थे। लेकिन बीजिंग में बैठे चीनी आका उसे स्वीकार नहीं कर सकते। इस लेख में भारतीय सेना की हालिया सफलताओं का भी जिक्र है, जिसमें भारतीय सेना ने रणनीतिकार रूप से अहम ऊंचाई वाली चोटियों पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *