ऑस्ट्रेलियाई हेड कोच की यह बात कर देगी हर भारतीय को गर्वित

Spread the love

ब्रिस्बेन। अंतिम ब्रिस्बेन टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हराकर बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज जीतने के बाद खेल से लेकर मनोरंजन और राजनीति जगत तक हर कोई युवा टीम इंडिया के प्रयासों और शांत रवैये की तारीफ कर रहा है। गौरतलब है कि टेस्ट सीरीज की शुरुआत भारतीय टीम के लिए बेहद खराब ढंग से हुई थी और पहला मैच केवल तीन दिन के भीतर ही समाप्त हो गया था तथा अगले तीन टेस्ट मैच में स्टार बल्लेबाज और कप्तान विराट कोहली की गैरहाजिरी से यह माना जा रहा था कि टीम इंडिया आने वाले मैचों को ड्रा तक नहीं करवा पाएंगी, लेकिन इस सब चीजों ने टीम के मनोबल प्रभावित नहीं किया बल्कि सभी खिलाड़ी इन बाधाओं से उबकर अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिया।

गाबा के मैदान पर भारत की यह पहली जीत और ऑस्ट्रेलिया की 32 साल बाद पहली हार है। इसी के साथ सीरीज से पहले टीम इंडिया को अंडरडॉग मानने वाली ऑस्ट्रेलियाई मीडिया के तेवर एकदम से बदल गए है और वें भारतीय टीम के खिलाड़ियों की जमकर तारीफ कर रही है। साथ ही, अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों में भारतीय जीत और टीम दोनों टीम इंडिया के प्रयासों की जमकर सराहना कर रही है।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने तो लिखा है कि ऑस्ट्रेलिया में भीड़ की गालियां झेलकर भी टीम इंडिया ने मेजबान का गुरूर तोड़ा है। ‘द ऑस्ट्रेलियन’ ने लिखा, ‘टीम इंडिया के जादुई तूफान ने गाबा के किले को ढहा दिया। स्टार खिलाड़ियों के बिना, संघर्ष करती और चोटिल टीम ने फुल स्ट्रेंथ ऑस्ट्रेलियन को शिकस्त दी।

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने भी टीम इंडिया के खिलाड़ियों के बेहतरीन प्रर्दशन को सराहा और माना कि जिस तरह युवा भारतीय टीम ने पूरी सीरीज खेली है, वह उल्लेखनीय है। जस्टिन ने यह भी स्वीकारा कि किसी को भी भारतीयों को कम नहीं आंकना चाहिए तथा जो भारतीय कर सकते है वह कोई भी नहीं कर सकता।

डेली टेलीग्राफ ने ऑस्ट्रेलियाई टीम का एक स्कैच बनाया और हैडिंग में लिखा, ‘कोई बहाना नहीं, कोई जवाब नहीं। ऑस्ट्रेलिया का सबसे खराब प्रदर्शन। ऑस्ट्रेलिया के लिए सच्चाई यही है कि उनके लिए एक ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज का अंत हुआ है। वह अपनी बेस्ट टीम के साथ बेस्ट पंच के लिए उतरी थी, लेकिन नेट बॉलर्स के साथ मैदान में उतरी स्ट्रगल कर रही टीम इंडिया ने उन्हें शिकस्त दी।’


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *