बाजारों को बंद करने के पक्ष में है दिल्ली के 88.1 फीसदी व्यापारी

Spread the love

नई दिल्ली। देश में हाल के दिनों में कोरोना वायरस के मामलों में बड़े पैमाने पर वृद्धि देखने के मिली है। भारत के महानगरीय शहर संक्रमण के चलते बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। देश की राजधानी दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन 1000 से अधिक कोविड -19 के मामले सामने आ रहे है जिसके चलते व्यापारियों के दिल में डर का माहौल बना हुआ है। गौरतलब है कि पहले व्यापारी दो महीने से भी अधिक समय के लिए लगाए देशव्यापी लॉकडाउन के कारण वित्तीय संकट से डरे हुए थे और अब अनलॉक चरणों के दौरान कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से भयभीत है। आपको बता दे कि कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने दिल्ली के बाजारों को बंद करने के संबंध में एक ऑनलाइन सर्वे जारी किया है, जिसमें दिल्ली के ट्रेडर्स एसोसिएशन की राय मांगी गई।

CAIT के सर्वे में 2800 ट्रेडर्स एसोसिएशन से सवाल पूछे गए, जिसमें से 2610 के जवाब मिले हैं। 99.4 फीसदी व्यापारी मानते हैं कि दिल्ली में कोरोना तेजी से फैल रहा है। वहीं 92.8 प्रतिशत व्यापारी मानते हैं कि अगर बाजार खुले रहे तो कोरोना और फैल सकता है व 92.7 फीसदी व्यापारी मानते हैं कि दिल्ली में कोरोना से मरीजों के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं पर्याप्त नहीं हैं और 88.1 फीसदी व्यापारी कोरोना के चलते बाजार बंद करने के पक्ष में हैं। CAIT ने अपने सर्वे की रिपोर्ट गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भेज दी है। जिससे दिल्ली के व्यापारियों की चिंता को गंभीरता से लिया जाए और जल्द समाधान निकाला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *