अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट के अनैतिक व्यावसाय के खिलाफ गुहार

Confederation of All India Traders (CAT) Se

अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट और अन्य ई-कॉमर्स कंपनियों

Spread the love

दिल्ली अप-टु-डेट ब्यूरो

नई दिल्ली। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) अमेज़न एवं फ्लिपकार्ट और अन्य ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा लगातार सरकार की एफ़डीआइ पॉलिसी को ठेंगा दिखाते हुए अपने अनैतिक व्यावसायिक मॉडल को जारी रखने पर प्रधानमंत्री मोदी को एक पत्र भेजकर आग्रह किया है की इन कम्पनियों के ख़िलाफ़ तुरंत कारवाई जी जाए और देश के सात करोड़ व्यापारी जो चालीस करोड़ लोगों को रोज़गार देते हैं उनके व्यापार को बचाया जाए।

आश्चर्य की बात है की ये दोनों कम्पनिया विगत अनेक वर्षों से प्रतिवर्ष हजारों करोड़ रुपये का घाटा उठा रही हैं और फिर भी बाज़ार में तिकी ही नहीं है बल्कि हर वर्ष अनेक प्रकार की बड़ी सेल भी आयोजित करती हैं! उन्होंने आगे कहा कि नवीनतम जानकारी के अनुसार, अमेज़ॅन ने वर्ष 2018-19 में अपनी विभिन्न इकाइयों में 7000 करोड़ रुपये से अधिक का घाटा दर्ज किया है, जबकि उसके राजस्व में 54% की वृद्धि हुई है। दूसरी ओर फ्लिपकार्ट ने वर्ष 2018 -19 में 5459 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया जबकि उसके संयुक्त राजस्व में 44% की वृद्धि हुई। यह एक अनूठा मामला है जहां हर साल बिक्री में आश्चर्यजनक रूप से वृद्धि हो रही है, लेकिन इसके साथ ही दोनों कंपनियों के मामले में नुकसान भी काफी हद तक हो रहा है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *