केबल व वाई-फाई कंपनियां कर रहीं है खुलेआम चोरी

Spread the love

वाईफाई बना लूट का जरिया

नई दिल्ली। पिछले कुछ समय से वाई-फाई, केबल नेट और ब्रॉडबैंड कंपनियां के द्वारा बनाए गए वितरक सरकारी संपत्ति का अपने हित के लिए खुलेआम दुरप्रयोग कर रहे है और जिसके चलते आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है व वह खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे है। हाल के दिनों में विशेष रूप से देशव्यापी तालाबंदी के दौरान इंटरनेट के महत्वता में भारी इजाफा देखने को मिला था क्योंकि इंटरनेट व वाईफाई आम जनता के लिए मनोरंजन, स्कूल और कॉलेज के छात्र के लिए ऑनलाइन कक्षाएं, कर्मचारियों के लिए घर से काम करने व अन्य के लिए समय व्यतीत करने का एकमात्र साधन बन गया था व बना हुआ है। इसी बीच लोगों की यह जरूरत वाईफाई कंपनियों के लिए चांदी कूटने का अवसर बन गया है।

दिल्ली के पूर्वी और सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट के कई जगाहों पर केबल व वाईफाई प्रोवाइडर्स ने अपना दबदबा बना रखा है और इन इलाकों में कई इंटरनेट कंपनियों का एकाधिकार बना हुआ है तथा आम जनता की वाईफाई के खराब सिग्नल और धीमी गति की शिकायतों को वाईफाई कंपनियों के कर्मचारी आसानी से नजरअंदाज कर गुंडागर्दी पर उतर जाते है और ग्राहकों के साथ दुर्व्यवहार करते हैं। वाईफाई प्रोवाइडर्स द्वारा ठगी का तरीका कुछ इस तरह है व आप की जागरूकता के लिए जरूरी –

1) वे बिना रसीद के पैसे ले सकते हैं।
2) वे आपसे उस डाटा का पैसा ले सकते हैं जो डाटा आपने इस्तेमाल ही नहीं किया है
3) वे आपकी योजना का विवरण सीधे बदल सकते हैं।
4) वे आपके शिकायत तब तक देरी करते रहेंगे जब तक कि यह समझाने के लिए और अधिक जटिल न हो जाए।
5) वे आपके बैंडविड्थ को थ्रॉटल कर सकते हैं।
6) यदि यह पोस्टपेड है, तो वे आपको सूचित किए बिना आपसे शुल्क लेना शुरू कर देंगे।
7) वे जानबूझकर सेवा को कम रख सकते हैं।

निराश इंटरनेट उपयोगकर्ता में से एक जो दिल्ली के लक्ष्मी नगर में रहते है मयंक ने वाईफाई सेवा प्रदाता द्वारा हुई ठगी को दिल्ली अपटुडेट टीम को बताया। मंयक ने बताया कि मैंने 10 अक्टूबर को 62 जीबी के लिए 50 एमबीपीएस वाली योजना खरीदी। सबसे पहले इंस्टॉलेशन आदमी रसीद के बिना पैसे मांगने आया। मैंने इनकार किया तो वह अगले दिन लाया। जैसे ही कनेक्शन शुरू हुआ, और इससे पहले कि मैं भी एक डिवाइस कनेक्ट करता, उन्होंने हमारे उपयोग से 10GB घटा दिया। हालाँकि दैनिक डेटा उपयोग अभी भी मेरे वास्तविक उपयोग के अनुरूप था। फिर मेरी शिकायत के कुछ दिन बाद, उन्होंने कहा कि हमारा पैक केवल 51GB का था। उन्होंने हैथवे पर मेरे खाते के सभी विवरण भी बदल दिए। हर बार जब मैंने उनके कॉल सेंटर पर कॉल किया, तो केवल वे कहते हैं कि हमारा तकनीकी आदमी अगले 24 घंटों में आपको कॉल करेगा लेकिन किसी ने कभी फोन नहीं किया। मैंने 50 एमबीपीएस की योजना खरीदी थी लेकिन 25 एमबीपीएस की गति से ऊपर वह कभी नहीं चला उन्होंने कभी नहीं बताया कि हमारी योजना पोस्टपेड थी। इसका मतलब है कि आपकी योजना समाप्त होने के क्षण में वे आपसे शुल्क लेना शुरू कर देंगे। और आप कभी नहीं जान पाएंगे कि आपकी योजना समाप्त हो गई है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *