दिल्ली के अस्पतालों में बड़ों के बाद बच्चों की लगी भीड़

Spread the love

(दिल्ली-अप-टु-डेट)   नई द‍िल्‍ली। देश में कोरोना के बाद कई राज्यों में रहस्‍यमयी बुखार व वायरल बुखार के बढ़ते मामलों ने लोगों के मन में दहशत फैला दी हैं। मौसम में बदलाव होने के बाद राजधानी द‍िल्‍ली समेंत उत्तर प्रदेश, बिहार में वायरल बुखार तेजी से पैर पसार रहा हैं। राजधानी में धीरें—धीरें अस्‍पतालों में बच्‍चों के बेड भी तेजी से भरने लगे हैं। बढ़ते मामलों के बाद अस्पतालों में ओपीडी में मरीजों की संख्या अब सैकड़ों की बजाए हजारों में रिकॉर्ड की जा रही है, सामान्य तौर पर होने वाली ओपीडी में रज‍िस्‍ट्रेशन की संख्‍या भी तेज होने लगी है। बच्चों के लिए बड़ा अस्पताल माने जाने वाले चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में आईसीयू बिस्तर फुल हो चुके हैं। राजधानी में लगातार भारी बारिश होने से वाटर लॉग‍िंग की समस्‍या पैदा हो रही है, इसकी वजह से मच्‍छरजन‍ित बीमार‍ियां भी तेजी से बढ़ने लगी हैं।

अस्‍पतालों की मानें तो सामान्‍य तौर पर ओपीडी में 500 मरीजों की कंसल्‍टेंसी होती थी लेकिन अब यह संख्‍या आमतौर पर 12 से 14 हजार पहुंच गई है। इस तरह से लगातार बढ़ती संख्‍या कोरोना महामारी के दौरान काफी च‍िंताजनक और गंभीर होती जा रही है। कोरोना महामारी के चलते इस तरह के मरीजों का इलाज करना अस्‍पताल प्रशासन के ल‍िये बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। इसके पीछे एक बड़ी वजह यह है क‍ि इस बीमारी के ल‍िये उनकी काफी बारीकी से इलाज करना पड़ रहा है।

एक बाद एक राज्‍य में बढ़ने लगे हैं वायरल बुखार के मामले
जानकारी के मुताबिक उत्‍तर प्रदेश और बिहार में अब तक रहस्‍यमयी बुखार व वायरल बुखार के मामलें तेजी से बढ़ रहें है। च‍िंताजनक बात यह है क‍ि वायरल बुखार व रहस्‍मयी बुखार के मामले मध्‍य प्रदेश में आने शुरू हो गये हैं। एक बाद एक राज्‍य में इन मामलों का तेजी से बढ़ना भी राज्‍य सरकारों के ल‍िये मुश्क‍िल खड़ी करने वाले साबित होते नजर आ रहे हैं।

ये भी पढ़े- :गुजरात के 17वें मुख्यमंत्री बने भूपेंद्र पटेल


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *