चीनी कंपनी ला रही है दुनिया का सबसे बड़ा आईपीओ

Spread the love

नई दिल्ली। चीन के सबसे अमीर व्यक्ति में से एक जैक मा दुनिया का सबसे बड़ा इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग जारी करने जा रहे है। आपको बता दे कि यह आईपीओ जैक मा की कंपनी अलीबाबा से संबद्ध कंपनी एंट ग्रुप जारी करेगा तथा इस आईपीओ 35 अरब डॉलर यानी 2.56 लाख करोड़ रुपए का होगा। अगर इस कंपनी के आईपीओ के पिछले पांच वर्षों का प्रदर्शन की बात करे तो आप निश्चित रूप से इस आईपीओ के लिए आवेदन करेंगे।

डुअल लिस्टिंग से एंट ग्रुप को कुल 35 अरब डॉलर जुटाने की उम्मीद है तथा यह लिस्टिंग हॉन्गकॉन्ग और शंघाई में आधी-आधी होगी। आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि सऊदी अरामको ने 2019 में 29.4 अरब डॉलर जुटाए थे और अब तक उसका आईपीओ ही दुनिया का सबसे बड़ा माना जाता है। वहीं 2014 में अलीबाबा ग्रुप ने न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में स्टॉक बेचकर 25 अरब डॉलर जुटाए थे और वह उस समय रिकॉर्ड-ब्रेकिंग आईपीओ था। लेकिन चीन और अमेरिका के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए एंट ग्रुप का आईपीओ न्यूयॉर्क में लिस्ट नहीं होगा।

गौरतलब है कि कई लोगों को इनिशियल पब्लिक ऑफर की जानकारी नहीं होगी और उनके लिए यह जानना बहुत महत्वपूर्ण है कि आईपीओ असल में होता क्या है। जब कोई कंपनी अपने स्टॉक या शेयर्स को जनता के लिए जारी करती है तो उसे इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग कहते हैं और बाद में लिमिटेड कंपनियां शेयर बाजार में लिस्ट होती हैं।

एंट ग्रुप का आईपीओ हॉन्गकॉन्ग और शंघाई स्टॉक एक्सचेंज में आ रहा है और इसे दुनिया का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ कहा जा रहा है। बार्कलेज, आईसीबीसी इंटरनेशनल और बैंक ऑफ चाइना इंटरनेशनल इसके बुक-रनर्स हैं। हॉन्गकॉन्ग में सीआईसीसी, सिटी ग्रुप, जेपी मॉर्गन और मॉर्गन स्टेनली इसे स्पॉन्सर कर रहे हैं। इसी तरह, शंघाई में सीआईसीसी और चाइना सिक्योरिटीज इसे स्पॉन्सर कर रहे हैं। वित्तीय विशेषज्ञ के अनुसार, चीनी इन्वेस्टर आने वाले आईपीओ को टारगेट करने के लिए नए लॉन्च म्युचुअल फंड में इन्वेस्ट कर रहे हैं। पांच फंड्स बने हैं जो दो हफ्ते के सबस्क्रिप्शन पीरियड में 8.8 अरब डॉलर के फंड को टारगेट कर रहे हैं। हालांकि, ट्रम्प प्रशासन और चीन के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए अमेरिकी इन्वेस्टर्स को इस आईपीओ में पार्टिसिपेट करने से रोका गया है।

ReplyForward

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *