बदहाल सड़क नेताओं और प्रशासन की आंखें बंद

Spread the love

नई दिल्ली। राजधानी में कई ऐसी सड़कें हैं जो आनेजाने के लिहाज में व्यस्ततम होने के बावजूद जर्जर स्थिति में है, इन में से एक ऐसी ही सड़क है ज़खीरा के पास स्थित ओल्ड रोहतक रोड, आपको बता दे कि यह दिल्ली को हरियाणा से सीधा जोड़ती है तथा जिस वजह से इस रोड को ओल्ड रोहतक रोड कहा जाता है। गौरतलब है कि समय बीतने के साथ इस रोड ने कई परिवर्तनों का अनुभव किया, 1970 से 90 के दौरान बड़े-बड़े कारखाने से लेकर उद्योग मिल तथा देश की सबसे बड़ी तेल कंपनियों और गेस सिलिंडर का भण्डारण गृह भी इस रोड पर स्थित था। लेकिन नई सहस्राब्दी की शुरुआत के साथ यह सड़क का आवासीय उद्देश्य को लेकर तब्दील होना भी शुरु हो गया तथा डीएलएफ ने ओल्ड रोहतक रोड पर आवासीय फ्लैटों का निर्माण किया जो आज के समय में दिल्ली के सबसे महंगे आवासीय फ्लैटों में से एक बन गया है।

इस सड़क मार्ग का उपयोग लगभग 30 प्रतिशत दिल्लीवासी दैनिक आधार पर करते है और ज़खीरा से अशोक पार्क मेन की ओर जाने वाला रोड का लगभग 150-200 मीटर का हिस्सा पिछले काफी समय से दयनीय स्थिति में है। यहां सड़क उबड़-खाबड़ होने के साथ-साथ गड्ढों से भरी हुई है जो एडवेंचर लविंग लोगों को एक तरह से ऑफ रोड का अनुभव देता है।

जिस वजह से यहा कई बड़ी सड़क दुर्घटना भी हो चूकी है लेकिन शासन—प्रशासन इससे अनजान है या आँखें मूंदकर बैठा हुआ है।

एक ऐसी पुरानी नस यानी की लाइफ लाइन रोहतक से दिल्ली बस अड्डे तक आती थी और उस सड़क का नाम है ओल्ड रोहतक रोड जी हां यह सड़क आजादी के बाद से अब तक दिल्ली के दिल में बसी हुई है मगर आज दिल्ली के बदले हुए इस रूप को देखकर इस सड़क की हालत देखने लायक है

जखीरा से रामपुरा को जाने वाली सड़क पर स्थिति इतनी बदहाल है यह कई महीनों से बनी हुई है जिसकी और प्रशासन ने आंखें बंद कर रखी है या कोई और कारण है जबकि इस सड़क पर 24 घंटे यातायात लगातार चलता है ऐसी सड़क जिस पर रात्रि में लाइट तक की पूर्ण व्यवस्था भी नहीं वहां दुर्घटनाओं की संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता यह सड़क इस फ्लाईओवर से दोस्ती है एक ओल्ड रोहतक रोड और दूसरी जो इस फ्लाईओवर के ऊपर जाती है वह न्यू रोहतक रोड कहलाती है इस फ्लाईओवर के साथ सड़क क इस फ्लाईओवर के साथ-साथ जो सड़क जखीरा से रामपुरा की ओर जाती है वह इतनी हालत में है इसको देख कर ही दिल रोने लगता है कि यह हालत तो कभी 1980 में ही रही होगी क्योंकि उस समय यह फ्लाईओवर बन रहा था जो एशिया का सबसे बड़ा फ्लाईओवर था एक तरफ रामपुरा से ईदगाह तक जाता है और न्यू रोहतक रोड कहलाता है उसके टीप्वाइंट से एक सड़क सरायरोला तक उतरती है जो उस समय की अशोक विहार तक का यातायात लेकर इस तरफ करोलबाग तक और यह भाग से आगे स्टेशन तक जाता था।

दिल्ली की सड़कों में रिंग रोड और आउटर रिंग रोड बन जाने से बड़े-बड़े फ्लाई ओवरों के बन जाने से आज यह चोटों की श्रेणी में आ गया है और इसकी दुर्दशा भी और इसकी हालत जर्जर हालत देखने लायक है यह समझ नहीं आता न जाने क्यों इन सड़कों को नजरअंदाज किया जा रहा है आपको बता दें कि ओल्ड रोहतक रोड अपने समय की बहुत व्यस्त लोगों में से एक थी इस सड़क के किनारे बहुत बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां थी एक इंडस्ट्रियल एरिया जो आनंद पर्वत कहलाता है वह इस फ्लाईओवर के बनने के बाद आवागमन के लिए सुविधा को प्राप्त हुआ इस सड़क पर पुराने टाइम में हिंदुस्तान लीवर और सीवर के इस्तेमाल में आने वाले बड़ी-बड़ी पाइप बनाने की फैक्ट्री मौजूद थी इस सड़क पर गैस सिलेंडर गैस पेट्रोल और डीजल की मुख्य कंपनियां इत्यादि जैसी मौजूदा समय में यहां स्थापित होते जा रहे हैं और यहां बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा फ्लैटों की याद हो रही है


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *