बिना हेल्मेट स्कूटी चलाना तीन किशोरो को पड़ा भारी, मौत

The three teenagers died

बगैर हेल्मेट तेज रफ्तार में स्कूटी चलाने से मौत

Spread the love

नई दिल्ली। आज के किशोरो को तेज रफतार का ऐसा खुमार है। कि बगैर हेल्मेट और तेज रफ्तार में स्कूटी चलाना उस समय तीन किशोरों को भारी पड़ा जब उनकी स्कूटी एक खंभे से टकरा गई। टक्कर इतनी तेज थी कि स्कूटी छतिग्रस्त हो गई और तीनों बुरी तरह से लहूलूहान हो गए। तीनों किशोरों के सिर में गंभीर चोट लगने से मौत हो गई। मरने वाले तीनों किशोर के नाम मोहम्मद ओसामा (19), मोहम्मद साद (16) और मोहम्मद हमजा (15) है।

गंभीर रूप से घायल हुए, अस्पताल पहुंचने से पहले ही गई जान पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक तीनों की मौत ब्रेन हैमरेज से हुई है। स्कूटी हमजा की थी और वही चला भी रहा था। मौज मस्ती करते हुए तीनों घूमते हुए बहादुरशाह जफर मार्ग (आईटीओ से दिल्ली गेट जाने वाली सड़क) पर पहुंच गए और मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के गेट से थोड़ी दूर जाकर रात करीब 11.20 बजे तीनों एक हाईमॉस्ट लाइट के पोल से जा टकराए। हादसा इतना जबरदस्त था कि स्कूटी के छतिग्रस्त हो गई। सड़क पर करीब 30 फुट तक खून ही खून फैल गया। वहां से गुजर रहे एक पड़ोसी युवक ने राहगीरों की मदद से तीनों को ऑटो में डालकर अस्पताल पहुंचाया लेकिन तीनों को बचाया नहीं जा सका।

बाइक में तेल भरवाने निकले थे तीनों ओसामा, साद और हमजा तीनों ही परिवार के साथ पुरानी दिल्ली स्थित डीडीए फ्लैट तुर्कमान गेट पर रहते थे। ओसामा और साद मामा-बुआ के लड़के हैं और हमजा भी इनका रिश्तेदार था। ओसामा तुर्कमान गेट पर ही एक मदरसे में हिफ्ज (कुरान को कंठस्थ करना) कर रहा है। साद निजामुद्दीन के एक नामी पब्लिक स्कूल में आठवीं और हमजा गुरु हरकिशन पब्लिक स्कूल में नौवीं कक्षा का छात्र था। शनिवार रात को इनके एक रिश्तेदार की शादी थी। तीनों अपने-अपने परिवार के साथ तुर्कमान गेट स्थित दरगाह फैज इलाही स्थित बारात घर में मौजूद थे। इस बीच परिजनों की नजर बचाकर तीनों एक ही स्कूटी पर पेट्रोल भरवाने के नाम पर निकले थे।

परिजनों का आरोप पुलिस जिप्सी ने मारी टक्कर, जिससे हुई मौत हादसे की सूचना मिलते ही शादी में मौजूद तीनों लड़कों के परिजन घटना स्थल पर पहुंच गए। मृतक साद के चाचा रहीसुद्दीन ने आरोप लगाया कि हादसे के समय पुलिस की एक जिप्सी तीनों लड़कों का पीछा कर रही थी। जिप्सी की टक्कर लगने के कारण तीनों लड़के हादसे का शिकार हुए। इसी तरह के आरोप बाकी लड़कों के परिजनों ने भी लगाया। देखते ही देखते हजारों लोगों की भीड़ मौके पर इकट्ठा हो गई। लोगों ने दरियागंज थाने का घेराव कर रोड जाम कर दी। आसपास के थानों की पुलिस मौके पर बुलानी पड़ी। खुद पुलिस डीसीपी मंदीप सिंह रंधावा समेत अन्य आलाधिकारी मौके पर मौजूद रहे। रातभर परिजन सीसीटीवी दिखाने और दोषी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तार करे की मांग करते रहे। सुबह करीब छह बजे कुछ परिजनों को पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज दिखाई, उसके बाद परिजनों को सड़क से हटाया गया। रात भर नेताजी सुभाष मार्ग व बहादुरशाह जफर मार्ग की एक-एक लेन बंद रही। देर रात को क्राइम टीम के अलावा रोहिणी एफएसएल की टीम को जांच के लिए घटना स्थल पर बुलाया गया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *