कड़वा करेला सब्जियों में एक गुणकारी सब्जी?

कड़वा करेला गुणकारी एवं लाभदायक

एक गुणकारी सब्जी

Spread the love

दिल्ली अप—टु—डेट
हम प्रत्येक दिन सब्जियां खाते है लेकिन ज्यादातर हमे सब्जियों के बारे में पता नही होता है कि उसके क्या लाभ है तथा क्या हानि है और हम उसे लगातार यूज़ करते रहते है तो अनेक सब्जियों मे कड़वा करेला भी एक अपनी निजी पहचान रखता है तथा सेहत के लिए बहुत ही गुणकारी एवं लाभदायक है। हम आपको करेले से स्वास्थ के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देंगे।

इनमें फास्फोरस पर्याप्त मात्रा में होता है। जिसके सेवन से कफ एवं कब्ज तथा पाचन संबंधी समस्याओ को दूर करता है। इसके साथ ही व्यक्ति को अस्थमा (श्वासरोग) हो तो करेले के बगैर मसाले वाली सब्जी खाने से लाभ मिलता है और हम अनेक रोगो को भगाने के लिए करेले को अलग तरीके से यूज कर सफलता पा सकते है।

पेट में गैंस और अपच को दूर करने के लिए करेले के रस का सेवन करने में लम्बें समय के लिए यह बीमारी दूर हो जाती है। करेला कैंसर, त्वचा रोग, हार्ट हटैक, किडनी, गठिया, खूनी बवासीर, सुगर ‘‘मधुमेह’’ लकवा, उल्टी-दस्त इत्यादि गंभीर बिमारियों को दूर करने में सहायक है। अनेक रोगो में अलग-अलग तरीेको से उपयोग में लाया जा सकता है तथा करेला या इसकी पत्तियां उवाल कर इसके जूस के सेवन करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जो रोगो से ढिशुम-ढिशुम करने के लिए तैयारी जिस्म के अंदर बनती है।

इसका इस्तेमाल आज से लगभग 600 साल पहले से होता आ रहा है। भारत के अंदर करेले को कई नामों से जाना जाता है। तेलगु में ककरकाया तथा तमिल में पावकाई, मलयालम में पावकाका, हगालकई कचक में गुजराती में करला, मराठी में करले तथा बंगाली में कोरोला कहा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *