प्रदूषण से होने वाले रोगो को रोकता यह शरीफ फल ?

वैज्ञानिक दमा रोग, टीवी रोग,

रोग की सही औषधि मिल जायें और रोगी को उस का पता लग जायें

Spread the love

दिल्ली अप-टु-टेड
देश की राजधानी दिल्ली में बढ़ता प्रदूषण कई रोगो को लगातार दावत दे रहा है। जो सभी मनुष्य के लिए घातक है। जिस तरह हवा जहरीली है ठीक उसी प्रकार दोगुनी मात्रा में इसका शरीर पर पड़ने वाला प्रभाव जहरीला है। हालांकि इसके बचाव के कई उपाय निकालें गये है। लेकिन वह सफल होत नजर नही आ र​हे है। जहा राज्य सरकार से लेकर केन्द्र सरकार तक इससे निपटने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है तो देश के वैज्ञानिक भी इससे राहत पाने के लिए खोज में लगें है। जहरीली हवा सबसे ज्यादा बुजुर्गो, रोगियों एवं बच्चों के लिए एवं दमा, टीवी, हृदय रोग के रोगियों के लिए तो यह जहर से भी ज्यादा घातक है।

इसके प्रभाव को रोकने व स्वस्थ रहने के इस फल को नियमित खाने से बड़ा फायदा होगा। सबसे ज्यादा फायदा उन लोगो को होगा जो दमा रोग, टीवी रोग, हृदय रोग से ग्रस्त है। इन लोगो की सेहत पर जहरीली हवा का प्रभाव बिल्कुल भी नही पड़ेगा। अगर यह नियमित रूप से इस शरीफ फल को अगर आप शाम को दैनिक प्रक्रिया में खाने की तरह नियमित रूप से लेते है। अब आप प्रदूषण की वजह से जितनें डरे हुए है। उतने खुश होने का भी उपाय तलास चु​के है।

क्योंकि जितनी भी आप जहरीली हवा ऑक्सीजन के रूप में लेंगे और उस हवा को फिल्टर करने का काम यह फल कर देगा। जितना कचड़ा आपके फेफड़ो को दूषित करेगा। इस फल के अंदर उपलब्ध विटामिन उसका प्रभाव छण भर में दूर कर देंगे। निश्चित ही आप सभी इस फल का नाम जानने के लिए बैचेन होंगे और होना भी चाहिए क्योंकि जब रोग की सही औषधि मिल जायें और रोगी को उस का पता लग जायें अथवा विश्वास हो जायें तो निश्चित तौर पर उसकी आधी समस्या स्वत: खत्म हो जाती है। वैसे इस फल का नाम जैसा है यह देखने ​में भी उतना ही शरीफ लगता है। लेकिन इसकी बनावट उबड़ खाबड़ जरूर है।

अब आप इसके नाम का पता तो आसानी से लगा सकते है। बाहर से देखने में बहुत ही कठोर व अंदर से बहुत ही मुलायम होता है। जिसे शरीफा कहते है। इसको सीताफल भी कहा जाता है। इसका इस्तेमाल कई प्रकार की स्वीट, चॉकलेट, आइस्क्रीम बनाने में किया जाता है। शरीफा में भरपूर मात्रा में केल्शियम, मैग्निशियम, फाइबर, न्यूट्रिएंट्स होते है। इसलिए इसके नियमित सेवन से कई प्रकार के फायदे मिलते है। जिस कारण कई बिमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। शरीफे में बड़ी मात्रा में विटामिन बी—6 पाया जाता है। जो अस्थमा अटैक से बचाव करनें में मदद करता है और दिल के रोगियों को भी इसके सेवन के भरपूर फायदें मिलते है।

शरीफा में मौजूद पोटेशियम, मैग्निशियम दिल से जुड़ी बिमारियों से राहत दिलाता है। वही इस फल के सेवन से आंखों से संबंधित समस्या भी दूर होती है। क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन पायें जाते है तो शरीफा में उपलब्ध कॉपर और आयरन जो खून की कमी को दूर करता है और फाइवर कब्ज की समस्या से राहत दिलाता है।

साथ ही साथ विटामिन बी—6 और एंटी ऑक्सीडेंट के गुण दिमाग को तेज करनें में अति सहायक सिद्ध होता है। सबसे महत्वपूर्ण विटामिन बी—6 जो अस्थमा के अटैक को रोकने में सहायक है और प्रदूषित वायु भी अस्थमा रोग को ही बढ़ावा देती एवं फेफड़ो को नुकसान पहुंचाती है तो विटामिन बी—6 इसके प्रभाव को रोकने के लिए सहायक होती है। इसलिए शरीफे के नियमित सेवन से इन रोगो और बढ़ते प्रदूषण प्रभाव से व होने वाले रोगो से राहत मिल जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *