कढ़ी पत्ते के उपयोग से फायदे ही फायदे, जिसका वैज्ञानिक नाम मुराया कोएनिजी

Spices in our kitchen is curry leaves

जानिए कढ़ी पत्ता के फायदे

Spread the love

दिल्ली अप-टु-डेट
हमारी रसोई में कई ऐसे मसाले होते हैं, जिनका उपयोग खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ उनके कई अन्य फायदे भी होते है। इन्हीं में से एक है कढ़ी पत्ता। इसका वैज्ञानिक नाम है मुराया कोएनिजी। इसे करी पत्ता, कड़ी पत्ता और मीठी नीम जैसे नामों से भी पुकारा जाता है, और अंग्रेजी में इसे करी लीफ और संस्कृत में कृष्णा निंबा कहकर संबोधित किया जाता है। दक्षिणी भारत में इसे लंबे समय से उपयोग किया जाता रहा है। इसके औषधीय गुणों और विशेषताओं को देखते हुए इसका उपयोग अब देश के अधिकतर हिस्सों में किया जाने लगा है। कढ़ी पत्ता जहां खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए जाना जाता है, वहीं इसके सेहत में भी कई तरह के फायदे होते हैं। कुछ लोग इसके फायदों के बारे में नहीं जानते और यही वजह होती है कि वे खाना खाते समय इन्हें अलग निकालना ठीक समझते हैं। यदि आप भी ऐसी गलती कर रहे हैं, तो एक बार इनके फायदों पर नजर डाल लीजिए और यह गलती आप दोबारा नहीं करेंगे।

कढ़ी पत्ते के अनेको फायदे:-

1. वजन घटाने में कढ़ी पत्ता के फायदे
कढ़ी पत्ते में डाइक्लोरोमेथेन, एथिल एसीटेट और महानिम्बाइन जैसे खास तत्व पाए जाते हैं। इन तत्वों में वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने और ट्राइग्लिसराइड (फैट का एक प्रकार) के स्तर को नियंत्रित करने की क्षमता पाई जाती है। इसलिए ऐसा कहा जा सकता है कि कढ़ी पत्ते का उपयोग वजन घटाने में मददगार साबित होता है।

2. एनीमिया में कढ़ी पत्ता के फायदे
विशेषज्ञों के मुताबिक कढ़ी पत्ते में एंटी एनीमिया गुण पाया जाता है, जो एनीमिया पर प्रभावी रूप से काम कर सकता है। इसके अलावा कड़ी पत्ता कैल्सियम आयरन, जिंक और वैनेडियम जैसे खनिज पदार्थों का अच्छा स्रोत है। इस कारण कहा जा सकता है कि एनीमिया से निजात दिलाने में कढ़ी पत्ते का उपयोग सहायक साबित हो सकता है।

3. डायबिटीज में कढ़ी पत्ता के फायदे
कढ़ी पत्ते में हाइपोग्लाइसेमिक (शुगर लेवल को कम करना) गुण पाए जाते हैं। यह गुण शरीर में शुगर की मात्रा को कम करने में सहायक साबित होता है। इस कारण ऐसा कहा जा सकता है कि नियमित आहार में करी पत्ता के लाभ डायबिटीज जैसे जोखिमों को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं।

4. लिवर के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे
बताया जाता है कि कढ़ी पत्ते में टैनिन और कारबाजोले एल्कलॉइड जैसे तत्व मौजूद होते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक इन तत्वों में हेप्टोप्रोटेक्टिव गुण पाए जाते हैं, जो लिवर की कार्यक्षमता को बढाते हैं। साथ ही उससे संबंधित हेपेटाइटिस और सिरोसिस जैसे जोखिमों को कम करने में भी सहायक होते हैं।

5. डायरिया से बचाव के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे
विशेषज्ञों के मुताबिक कढ़ी पत्ते में पाए जाने वाले कार्बाजोले एल्कलॉइड्स में डायरिया से बचाव करने की अद्भुत क्षमता पाई जाती है। इसलिए ऐसा कहा जा सकता है कि इसका नियमित सेवन डायरिया जैसी समस्या से निजात पाने में कारगर साबित हो सकता है।

6. दिल को स्वस्थ रखने के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे
कढ़ी पत्ता एक हर्बल औषधि है, जो विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। हृदय संबंधी बीमारियों के इलाज लिए करी पत्ते का उपयोग एक कारगर आयुर्वेदिक औषधि के रूप में लंबे समय से होता आया है। इसके अलावा करी पत्ता कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम भी करता है, जो हृदय को स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी है।

7. कोलेस्ट्रोल का नियंत्रण के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे
कढ़ी पत्ते में विटामिन सी के साथ एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लामेट्री गुण मौजूद होते हैं। वहीं इस संबंध में किये गए एक शोध में विशेषज्ञों ने पाया कि कढ़ी पत्ते का उपयोग शरीर से बैड केलेस्ट्रोल की मात्रा को घटाने में सहायक सिद्ध होता है। 

8. संक्रमण से बचाव में कढ़ी पत्ता के फायदे
विशेषज्ञों के मुताबिक कढ़ी पत्ते के तेल में पाए जाने वाले कुछ खास पोषक तत्वों में एंटीबायोटिक और एंटीफंगल गुण भी पाए जाते हैं। इसमें पाए जाने वाले यही गुण बैक्टीरिया और फंगल प्रभाव को कम करने में लाभकारी परिणाम देते हैं इसलिए कहा जा सकता है कि करी पत्ता के फायदे में संक्रमण से बचाव भी शामिल है।

9. त्वचा के लिए कढ़ी पत्ता के फायदे
कढ़ी पत्ते का प्रयोग त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है। माना जाता है कि इसके तेल में मौजूद तत्वों में कुछ ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिनके प्रभाव से जले-कटे और बैक्टीरियल इन्फेक्शन को दूर करने में मदद मिलती है। इसके लिए इसकी पत्तियों का पेस्ट बनाकर इसे उपयोग में लाया जा सकता है। 

10. बालों की खास देखभाल करने के लिए करी पत्ते के फायदे
विशेषज्ञों के मुताबिक कढ़ी पत्ते के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व बालों के लिए भी अहम भूमिका निभा सकते हैं। कढ़ी पत्ते का तेल बालों पर लगाने से बालों की जड़ें मजबूत होती हैं। इसका नियमित इस्तेमाल बालों के विकास में मदद करता है। वहीं, करी पत्ता के फायदे में भूरे बालों की समस्या से छुटकारा भी शामिल है।

  • कढ़ी पत्ता में पाए जाने पौष्टिक तत्व:-

कढ़ी पत्ता के फायदे जानने के बाद अब हम इसमें पाए जाने पौष्टिक तत्वों के बारे में जानेंगे।

पोषक तत्व                                                  मात्रा प्रति 100 ग्राम
कैल्सियम                                                   810mg
फास्फोरस                                                   600mg
आयरन                                                       3.1mg
कैरोटीन (विटामिन ए के रूप में)                      12600IU
निकोटिनिक एसिड                                        2.3mg
विटामिन सी                                                 4mg

  • करी पत्ता को किन स्थितियों में इस्तेमाल न करे:-

करी पत्ता के फायदे और पौष्टिक तत्वों के बारे में जानने के बाद अब बात करते हैं कढ़ी पत्ते को किन स्थितियों में इस्तेमाल न करे।

  1. कढ़ी पत्ते के वैसे तो कोई नुकसान नहीं देखे गए हैं, लेकिन कुछ स्थितियों में या अधिक मात्रा में इसका उपयोग नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  2. कुछ लोगों में इसके एलर्जिक इफेक्ट भी देखे जा सकते हैं। ऐसी स्थिति में इसके 
    उपयोग को बंद कर देना चाहिए।
  3. गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका उपयोग करने से पहले चिकित्सक से सलाह जरूर लेनी चाहिए, क्योंकि इस स्थिति में इसके प्रयोग के कुछ दुष्परिणाम देखे जा सकते हैं।
  4. कुछ मामलों में इसके तेल का उपयोग बालों की जड़ों को कमजोर करने और उनके झड़ने का कारण भी बन सकता है।

अब तो आप करी पत्ता से अच्छी तरह परिचित हो गए होंगे। साथ ही यह भी जान गए होंगे कि इसका प्रयोग किस तरह से आपकी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों को दूर कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *