‘कश्मीर दोनों देशों का द्विपक्षीय मुद्दा: अमेरिका

भारतीय विदेश मंत्रालय अमेरिकी प्रशासन द्विपक्षीय मुद्दा

डोनाल्ड ट्रंप के विवादास्पद बयान

Spread the love

वाशिंगटन। अमेरिकी प्रशासन ने कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच ‘मध्यस्था’ से संबंधित अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के विवादास्पद बयान के कुछ ही घंटों बाद मंगलवार को डोनाल्ड ट्रंप की गलती सुधारते हुए कहा है कि ‘कश्मीर दोनों देशों का द्विपक्षीय मुद्दा है।’
दक्षिण एशिया के लिए शीर्ष अमेरिकी राजनयिक एलिस वेल्स ने ट्वीट किया, “कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच का एक द्विपक्षीय मुद्दा है। ट्रंप प्रशासन भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत का स्वागत करेगा और अमेरिका इस मामले में उनकी सहायता के लिए तैयार है।”
विदेश मामलों के हाउस कमेटी के अध्यक्ष एलियट एल एंजेल ने अमेरिका में भारत के राजूदत हर्षवर्धन श्रृंगला के बात की और कश्मीर मुद्दे पर अमेरिकी की पहले की नीति के तहत समर्थन करने की बात दोहराई। उन्होंने कहा, “वह भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता का समर्थन करते हैं और इस बात की पुष्टि करते हैं। इस संबंध में निर्णय केवल भारत और पाकिस्तान द्वारा ही लिया जा सकता है।”
गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रम्प ने वाशिंगटन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बैठक के बाद सोमवार को संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों के सवालों पर दावा किया था कि,“ प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में उनसे पूछा था कि क्या वे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करेंगे।” भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने डोनाल्ड ट्रम्प के दावे को खारिज करते हुए सोमवार देर रात कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति से ऐसा कोई अनुरोध नहीं किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *