25 सालों से रुका हुआ काम आखिरकार कैसे हुआ पूरा?

Spread the love

विधायक को सात साल और निगम पार्षद को साढ़े तीन साल सोचने में ही लग गए!

नई दिल्ली। सदर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले शास्त्री नगर वार्ड में बीते शुक्रवार को तीन में से एक कूड़ा घर का नवीनीकरण के पश्चात उद्घाटन भी हो गया लेकिन कूड़े घर में कूड़े को डी—कंपोज करने वाली मशीन आखिर कब तक लगेगी? इसका अभी तक पता नहीं। क्षेत्र में विधायक व निगम पार्षद उनके भाई गोल्डी द्वारा लगवाए होर्डिंगों और बैनरों में कहा गया है कि 25 वर्षों से लटका हुआ काम अब जा कर पूरा हुआ लेकिन इन्हीं बैनर और होर्डिंग में यह नहीं लिखा गया कि बीते 25 वर्षों में 7 सालों से आम आदमी पार्टी के ही विधायक सोमदत्त हैं और साढ़े तीन सालों से उन्हीं की पार्टी की स्थानीय पार्षदा बबीता शर्मा है।

सराय रोहिला वि​वेक नंद पुरी

आखिर फिर भी इस काम को पूरा करने में इतना वक्त क्यों लग गया?
जबकि इसका बजट मात्र 22 लाख रुपए का ही था। वहीं शास्त्री नगर के आसपास की विधानसभा क्षेत्रों की बात करे तो उनमें भी आम आदमी पार्टी के विधायक है और उनके विधानसभा क्षेत्रों में तो वहां पुनर्निर्मित कूड़ा घरों में डी—कंपोज मशीने काफी अरसे से काम कर रही है।

आजाद मार्किट: कूड़ा घर है बंद

जबकि सदर विधानसभा क्षेत्र में आने वाले अधिकतर कूड़ाघरों की स्थिति दयनीय है। वहीं शास्त्री नगर में एक कूड़ाघर के नवीनीकरण होने को लेकर जनप्रतिनिधि और उनके ही पार्टी के कार्यकर्ता उद्घाटन कर अत्यंत हर्षित हो रहे है और उनके कार्यकाल में इतने लंबे समय से लटकाए हुए कार्य को कर वह अपनी उपलब्धि गिनाने में लगे हुए है।

मोतीबाग

इसकी इनसाइट स्टोरी यह है कि बीते ढाई महीने पहले शास्त्री नगर के प्रमुख समाजसेवी मनोज कुमार जिंदल ने क्षेत्र की बदहाल कूड़े घरों के मुद्दें को प्रमुखता से उठाया था, क्योंकि पूरी दिल्ली की अधिकांश विधानसभाओं में कूड़े घरों का नवीनीकरण का काम लगभग हो चुका है और कूड़े को डी—कंपोज करने की मशीनें काफी समय पहले से ही काम करना शुरू कर चुकी है। जबकि सदर विधानसभा क्षेत्र के अधिकांश कूड़ाघरों की स्थिती दयनीय हालत में है।

गुलाबी बाग अंधामुगल

गौरतलब है कि मनोज कुमार जिंदल द्वारा यह मुद्दा उठाए जाने के बाद क्षेत्र में विधायक व निगम पार्षद की काफी किरकिरी हो रही थी जो उनकी प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया था इसलिए बीते सप्ताह 25 सालों का लटका सपना आखिरकार 7 वर्षों के विधायक व साढ़े तीन साल की निगम पार्षद को आनन-फानन में पूरा करवाना पड़ा और केवल एक कूड़ेघर के नवीनीकरण करवा अपनी मजबूरी को वाहवाही का जामा पहनाकर एहसान भरा टोकरा क्षेत्रवासियों के सर पर फोड़ दिया। शास्त्री नगर वार्ड के कूड़ाघरों की बात करे तो यह दूसरों वार्डों की अपेक्षा में अभी भी काफी पिछड़ा हुआ है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *