डॉ हर्षवर्धन साइकिल से स्वास्थ्य मंत्रालय पहुंचे

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री व चांदनी चौक संसदीय सीट से सांसद डॉ हर्षवर्धन ने सोमवार को अपना कार्यभार संभाल लिया है। बता दे कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन आज साइकिल से स्वास्थ्य मंत्रालय पहुंचे है। दफ्तर में पहुंचने के बाद मंत्रालय के कर्मचारियों ने फूलों का गुलदस्ता भेंटकर उनका स्वागत किया। डॉ हर्षवर्धन का कहना है कि, प्रदूषण मुक्त वातावरण और स्वस्थ रहने का संदेश देने के लिए यह कदम उठाया है।

इस मौके पर डॉ हर्षवर्धन ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी के आशीर्वाद से स्वास्थ्य मंत्रालय में देश के लोगों की सेवा करने के लिए स्वास्थ्य मंत्री के रूप में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिली है इसके लिए मोदी जी और अमित शाह जी का धन्यवाद। इससे पहले पांच साल में पीएम ने तीन मंत्रालयों की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी। ये पीएम का आशिर्वाद ही था कि सांइस एन्ड टेक्नोलॉजी की जिम्मेदारी दी थी।

डॉ हर्षवर्धन ने बताया कि उनका लक्ष्य मानवता की सेवा करना है। उन्होंने कहा कि आज वर्ल्ड साइकलिंग डे है उसके लिए साइकलिंग से आज प्रचारित की और घर से साइकल पर ही आया हूं। डॉ हर्षवर्धन का कहना है कि कोशिश रहेगी कि स्वास्थ्य मंत्रालय तक साइकल से आऊं। उन्होंने कहा कि फिजिकल एक्टिविटी करना साइकलिंग, योग मेडिटेशन जरूरी है। देश के लोगों से अपील है स्वास्थ्य के लिए दिनचर्या संतुलित करें और फिजिकल एक्टिविटी करें।

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि हमारा प्रयास होगा कि आयुष्मान भारत को लेकर गहराई से काम करेंगे जरूरतमंद लोगों तक सुविधाओं को पहुचाएंगे। 15-16 हजार अस्पताल अभी जुड़े हैं और भी जोड़े जाएंगे। अभी द्वश में पांच सरकारों ने योजना लागू नही किया है जिसमे दिल्ली, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश में लागू नही हुआ है। इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करके कहूंगा कि वो भी लागू राज्यों में इसे लागू करें।

बता दें कि डॉक्टर और राजनेता हर्षवर्धन एक बार फिर स्वास्थ्य मंत्रालय की कमान संभाली है। पिछली सरकार में भी हर्षवर्धन को स्वास्थ मंत्री बनाया गया था, लेकिन कुछ समय बाद ही उनका मंत्रालय बदल दिया गया था। दिल्ली के चांदनी चौक से सांसद हर्षवर्धन विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी मंत्रालय का पदभार भी संभालते रहेंगे। हर्षवर्धन को मई 2014 में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री नियुक्त किया गया था, लेकिन बाद में उनको पृथ्वी विज्ञान और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की जम्मेदारी सौंपी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *