कोरोना रिकवरी दर 48.07 प्रतिशत

Spread the love

नई दिल्ली। देश में भले ही कोरोना ग्रस्त मरीजों की संख्या में रोजाना बढ़ोत्तरी हो रही है और आंकड़ों के हिसाब से अब भारत सातवें स्थान पर आ गया है लेकिन सबसे सकारात्मक पहलू यह है कि भारत में मरीजों के स्वस्थ होने की दर में लगातार इजाफा हो रहा है और यहां मृत्यु दर भी बहुत कम है। देश में अब तक कुल 95527 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने के बाद रिकवरी रेट 48.07 प्रतिशत हो चुका हैं तथा सक्रिय मामले 97582 हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता लव अग्रवाल ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों की तुलना विश्व के अन्य देशों से की जा रही है लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारत की आबादी कितनी है और यहां कितने मामले अब तक सामने आये हैं तथा मृत्यु दर कितनी है। अगर तुलना ही करनी है तो आबादी के हिसाब से की जानी चाहिए और तब पता लगेगा कि उन देशों की आबादी जैसे भारत में अनेक देश हैं।

उन्होंने बताया कि देश में मरीजों के ठीक होने की दर 15 अप्रैल को 11.42 प्रतिशत, तीन मई को 26.59 प्रतिशत,18 मई को 38.29 प्रतिशत थी और इसके बाद इसमें सुधार होता गया और आज यह बढ़कर 48.07 प्रतिशत हो गई है और इस समय 95527 कोरोना मरीज ठीक हो गये हैं।

उन्होंने कहा कि विश्व के 14 देशों में जहां कोरोना के मामले अधिक देखे गये हैं उनकी आबादी भारत के बराबर ही है लेकिन उनमें भारत से 22.5 प्रतिशत अधिक कोरोना के मामले देखे गये हैं और मौतों का आंकड़ा भारत से 55.2 प्रतिशत अधिक है। अगर पूरे विश्व में मौतों का प्रतिशत देखा जाए तो विश्व में यह औसत 6.13 प्रतिशत है और भारत में इस समय 2.82 प्रतिशत है जो पूरे विश्व में सबसे कम है। अगर प्रति लाख आबादी के हिसाब से कोरोना मौतों का आंकड़ा देखा जाए तो पूरे विश्व में यह 4.9 प्रतिशत है लेकिन भारत में यह मात्र 0.41 प्रतिशत प्रति लाख है और बेल्जियम जैसे देश में यह दर 82.9 प्रतिशत प्रति लाख है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटों में कोरोना के 8171 नये मामले सामने आए हैं जिससे संक्रमितों की संख्या बढ़कर 198706 हो गयी। इस दौरान 204 लोगों की मृत्यु के बाद कुल मृतकों की संख्या 5598 हो गयी। देश में अब तक कुल 95527 लोग संक्रमणमुक्त भी हो चुके हैं तथा सक्रिय मामलें 97582 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *