अलगाववादी देश और कश्मीर दोनों के दुश्मन: जमीयत-ए-उलेमा हिंद

Pakistan अनुच्छेद 370 Jammu-Kashmir

धारा 370 पर हम देश के साथ

Spread the love

नई दिल्ली। जम्मू – कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर इस्लामी स्कॉलर्स के भारत में सबसे बड़े संगठन जमीयत-ए-उलेमा हिंद ने इसका समर्थन किया है। बता दे कि जमीयत-ए-उलेमा हिंद की वार्षिक बैठक में कश्मीर पर प्रस्ताव पारित किया गया है। जमीयत उलेमा का ​कहना है कि पाकिस्तान कश्मीर को तबाह करने में जुटा है। हम कश्मीर के अलगाववादियों का समर्थन नहीं करते है। अलगाववादी देश और कश्मीर दोनों के दुश्मन हैं और धारा 370 पर हम देश के साथ है।

जमीयत उलेमा हिंद के मौलाना महमूद मदनी ने मीडिया को बताया, ‘आज हमने अपनी बैठक में प्रस्ताव पारित किया है कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। देश की सुरक्षा और अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। यह भारत हमारा देश है और हम इसके साथ है।’

मौलाना मदनी ने पाकिस्तान पर हमला करते हुए कहा, ‘पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय पटल पर ऐसा संदेश देता है कि भारत का मुसलमान अपने देश के साथ नहीं है। हम पाकिस्तान की इस हरकत की निंदा करते है। ‘

साथ ही उन्होने कहा कि कश्मीरी के लोगों के लोकतांत्रिक और मानव अधिकारों की रक्षा करना हमारा राष्ट्रीय कर्तव्य है। लेकिन फिर भी हमारा दृढ़ विश्वास है कि उनका कल्याण भारत के साथ आने में ही है। इन्होंने कहा कि कुछ अलगाववादी ताकतें और पड़ोसी देश कश्मीर को बर्बाद करने में तुले हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *