‘ओम’ और ‘गाय’ शब्‍द कान मे पडते ही बाल खड़े हो जाते हैं: PM मोदी

Uttar Pradesh Pm modi

पर्यावरण और पशु धन

Spread the love

मथुरा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पशु आरोग्‍य से जुड़े कार्यक्रमों के साथ स्‍वच्‍छता ही सेवा प्रोग्राम की शुरुआत की उन्‍होंने कहा कि पर्यावरण और पशु धन हमेशा से भारत के आर्थिक चिंतन का महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। किसानों की आय बढ़ाने में पशुपालन का बहुत बड़ा रोल है। इन पर किया गया निवेश ज्यादा कमाई कराता है दूध उत्‍पादन के लिए कामधेनु आयोग बनाया गया है दूध के उत्‍पादन में सात फीसद की बढ़ोतरी हुई है इससे किसानों की आय में 13 फीसदी बढ़त हुई है।

पूरी कोशिश है कि हर घर के पास गाय हो इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा इस देश का दुर्भाग्‍य है कि कुछ लोगों के कान पर अगर ‘ओम’ और ‘गाय’ शब्‍द पड़ता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं। उनको लगता है कि देश 16वीं शताब्‍दी में चला गया ऐसा ज्ञान, देश बर्बाद करने वालों ने देश बर्बाद करने में कुछ नहीं छोड़ा है। पीएम मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया पर्यावरण को बचाने के लिए रोल मॉडल ढूंढ रही है। बृजभूमि ने हमेशा से ही पूरे विश्व और पूरी मानवता को प्रेरित किया है।

आज पूरा विश्व पर्यावरण संरक्षण के लिए रोल मॉडल ढूंढ रहा है। लेकिन भारत के पास भगवान श्रीकृष्ण जैसा प्रेरणा स्रोत हमेशा से रहा है, जिनकी कल्पना ही पर्यावरण प्रेम के बिना अधूरी है। प्रकृति, पर्यावण और पशुधन के बिना जितने अधूरे खुद हमारे आराध्य नजर आते हैं उतना ही अधूरापन हमें भारत में भी नजर आएगा।

पर्यावण और पशुधन हमेशा से ही भारत के आर्थिक चिंतन का महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि स्‍वच्‍छता ही सेवा कार्यक्रम विशेष रूप से प्लास्टिक निवारण के लिए समर्पित है। बृजवासी अच्छी तरह से जानते हैं कि पशुओं की मौत के लिए प्लास्टिक जिम्मेदार हैं। सिंगल यूज प्लास्टिक से हमको आज़ाद होना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *