तुकी राष्ट्रपति के बयान पर भारत ने कहा यह हमारा आं​तरिक मामला

तुकी राष्ट्रपति कश्मीर विदेश मंत्रीलय

पाकिस्तान से भारत और क्षेत्र में आतंकवाद से फैलने वाला गंभीर खतरे भी शामिल है।'

Spread the love

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया गया था। तो वही तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन द्वारा कश्मीर को लेकर बयान देने पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। भारत ने तुर्की से कहा कि वह आंतरिक मामले में दखल न दें।

बता दे कि विदेश मंत्रीलय ने कहा कि ‘हम तुर्की नेतृत्व से भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करने और तथ्यों की उचित समझ विकसित करने की अपील करते हैं, जिसमें पाकिस्तान से भारत और क्षेत्र में आतंकवाद से फैलने वाला गंभीर खतरे भी शामिल है।’

विदेश मंत्रालय ने जवाब देते हुए आगे कहा कि ‘भारत जम्मू और कश्मीर के सभी संदर्भों को अस्वीकार करता है, जो भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है।’ बता दें तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने शुक्रवार को पाकिस्तानी संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने कहा कश्मीर जितना अहम पाकिस्तान के लिए है उतना ही तुर्की के लिए भी है।

उन्होंने संबोधन के दौरान कहा कि ”हमारे कश्मीरी भाई और बहन दशकों से पीड़ित हैं। हम एक बार फिर से कश्मीर पर पाकिस्तान के साथ हैं। हमने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में उठाया था। कश्मीर का मुद्दा जंग से नहीं सुलझाया जा सकता। इसे इंसाफ़ और निष्पक्षता से सुलझाया जा सकता है। इस तरह का समाधान ही सबके हक़ में है। तुर्की इंसाफ़, शांति और संवाद का समर्थन करता रहेगा।” ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *