प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानें के लिए दादी—नानी के नुस्खों का उपयोग करें

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढते मामलों के बीच आयुष मंत्रालय ने लोगों से प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए योग करने और दादी- नानी के घरेलू नुस्खों के इस्तेमाल

Spread the love

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढते मामलों के बीच आयुष मंत्रालय ने लोगों से प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए योग करने और दादी- नानी के घरेलू नुस्खों के इस्तेमाल की सलाह दी है। मंत्रालय ने आज यहां जारी वक्तव्य में कहा है कि समूची मानवता एक खतरनाक वायरस से लड़ाई लड़ रही है और इससे बचाव में व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। अभी कोरोना के उपचार के लिए कोई दवा नहीं होने के चलते मंत्रालय ने कहा है कि इससे बचाव ही सबसे बेहतर विकल्प है। इस बचाव के लिए व्यक्ति को अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढानी होगी।

मंत्रालय ने कहा है कि कुछ आम उपायों से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढायी जा सकती है जैसे हर रोज गुनगुने पानी का सेवन और योग, प्राणायाम के साथ साथ 30 मिनट तक ध्यान करें। इसके अलावा खाना पकाने में हल्दी, जीरे, धनिया और लहसुन का प्रयोग करें।

प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए आयुर्वेदिक नुस्खों में सुबह च्वयनप्राश के साथ- साथ दिन में एक या दो बार हर्बल चाय पी सकते हैं। तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सोंठ और मुनक्का मिलाकर काढा पीयें। स्वाद के अनुसार इसमें गुड़ और नींबू भी मिलाया जा सकता है। डेढ सौ मिलिलीटर गर्म दूध में आधी चम्मच हल्दी मिलाकर पीयें। सुबह और शाम को नाक में नारियल या तिल का तेल या घी लगायें। एक चम्मच तिल के तेल या नारियल तेल से एक या दो बार कुल्ला करें।

सुखी खांसी और गले में खराश के लिए पुदीने की पत्ती या अजवायन की भाप ली जाये। लोंग पाउडर को शहद में मिलाकर दिन में दो या तीन बार लिया जा सकता है। जरूरत पड़ने पर डाक्टर की सलाह भी ली जाये। मंत्रालय ने कहा है कि ये नुस्खे जाने माने आयुर्वेदाचार्यों ने बताये हैं। उसने साथ ही यह भी स्पष्ट किया है कि ये शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढाने के उपाय हैं। इनसे कोरोना का उपचार नहीं किया जा सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *