अमित शाह ने रेलवे स्टेशन पर दिखाई हरी झंडी

Amit Shah स्वदेशी सेमीहाईस्पीड ट्रेन कटरा

कटरा वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन

Spread the love

नई दिल्ली। गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को दिल्ली से जम्मू कश्मीर स्थित श्री माता वैष्णोंदेवी कटरा के बीच चलने वाली देश की दूसरी सेमीहाईस्पीड ट्रेन वन्दे भारत एक्सप्रेस का आज नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर हरी झंडी दिखा कर शुभारंभ किया और कहा कि यह स्वदेशी सेमीहाईस्पीड ट्रेन जम्मू कश्मीर के विकास का बहुत बड़ा माध्यम बनेगी।

नई दिल्ली कटरा वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का पांच अक्टूबर से व्यावसायिक परिचालन शुरु होगा। इस ट्रेन से दिल्ली से कटरा की यात्रा 12 घंटे के बजाय आठ घंटे में पूरी की जा सकेगी। अमित शाह ने इस अवसर पर कहा कि यह जम्मू कश्मीर के विकास के लिए बड़ा तोहफा है क्योंकि इससे धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होंने कहा कि संविधान का अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर के विकास में बड़ा बाधा था। दस साल के अंदर देश के सबसे विकसित राज्यों में से एक बनेगा और वंदे भारत एक्सप्रेस राज्य के विकास का बहुत बड़ा माध्यम बनेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का जो लक्ष्य रखा है, उसे प्राप्त करने में भारतीय रेलवे का बड़ा योगदान होगा।

जम्मू कश्मीर को लेकर संविधान के अनुच्छेद 370 समाप्त करने के संबंध में उन्होंने कहा, “मैं मानता हूं कि 370 देश की एकता और अखंडता के लिए विघ्न था, 370 कश्मीर के विकास के बीच में सबसे बड़ा रोड़ा था। मुझे भरोसा है कि 370 हटने के बाद कश्मीर के अंदर आतंकवाद और आतंकवादियों की विचारधारा को संपूर्ण उन्मूलन करने में हमें सफलता प्राप्त होगी। ”

अमित शाह ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के रेल से संबंध की चर्चा करते हुए कहा, “मोहनदास से महात्मा बनने की जो महत्वपूर्ण घटना हुई, वो भी रेल के डिब्बे में हुई थी, जब उन्हें अपमानित करके रेलवे स्टेशन पर फेंक दिया गया, तभी बापू ने संकल्प लिया था कि इस अंग्रेजी शासन को हम उखाड़ फेंकेंगे। उन्होंने कहा कि वंदे भारत एक्सप्रेस के अंदर मेक इन इंडिया और मेड इन इंडिया की कल्पना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से रेल विभाग ने चरितार्थ किया है।

इस अवसर पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जम्मू कश्मीर में श्रीमाता वैष्णोंदेवी कटरा से बानिहाल तक रेललाइन ढाई साल में बनकर तैयार हो जाएगी और 15 अगस्त 2022 के पहले कश्मीर रेललाइन के माध्यम से पूरे देश से जुड़ जाएगा। तब कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक रेललाइन का सपना पूरा हो जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *