पश्चिम बंगाल के पुराने गौरव को वापस लाएंगे: अमित शाह

Spread the love

कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पश्चिम बंगाल के प्राचीन गौरव को वापस लाने के लिये प्रयासरत है और एक बार फिर उसे ‘सोनार बांगला’ बनाया जाएगा। अमित शाह ने ‘पश्चिम बंगाल जन सम्मान रैली’ को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा, “हम पश्चिम बंगाल का पुरान गौरव वापस लाएंगे। हम इसे एक बार फिर ‘सोनार बांगला’ बनाना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, “बंगाल एकमात्र ऐसा राज्य है जहां सांप्रदायिक हिंसा लगातार जारी है और इसे रोका जाना चाहिए। मैं आपको भरोसा दिलाना चाहता हूं कि भाजपा यहां केवल क्रांति या राजनीति नहीं बल्कि सांस्कृतिक एवं पारंपरिक बंगाल का पुननिर्माण करेगी। हम ‘सोनार बांगला’ फिर से बनाना चाहते हैं।” उन्होंने देश में कोरोना महामारी से जंग ले रहा ‘कोरोना योद्धाओं’ के अथक प्रयासों की सराहना की।

राज्य में हो रही ‘राजनीतिक हत्याओं’ पर केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, “हम पश्चिम बंगाल में अपने कार्यकर्ताओं के बलिदान के नहीं भूलेंगे।” श्री शाह ने कहा कि वर्ष 2014 से लेकर अब तक यहां करीब 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं की राजनीतिक हत्या हो चुकी है। अमित शाह ने कहा कि “जहां एक ओर देश भर में लोकतंत्र ने अपनी जड़ें जमा ली हैं वहीं पश्चिम बंगाल इकलौता ऐसा राज्य है जहां राजनीतिक हिंसा आज भी जारी है।” उन्होंने कहा, “मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि उन्होंने बंगाल में आयुष्मान भारत योजना लागू क्यों नहीं की? उन्हें गरीबों के अधिकारों पर राजनीति करनी बंद कर देनी चाहिए।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “ममता जी, आप गरीबों के अधिकारों पर राजनीति करना बंद कर दीजिए। आप बहुत से अन्य मुद्दों पर राजनीति कर सकती हैं लेकिन गरीबों के स्वास्थ्य से नहीं।” केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, “मोदी सरकार के छह वर्षों के शासन में भारत नयी बुलंदियों पर पहुंचा है और इन छह वर्षों में हम नया भारत बनाने की दिशा में अग्रसर हुए हैं।”
शाह ने कहा, “मैं कोरोना वायरस और चक्रवात अम्फान के कारण जान गंवाने वाले लोगों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।” शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को ‘वर्चुअल रैली’ के लिये धन्यवाद दिया। उन्होंने अपना संबोधन पश्चिम बंगाल की महत्ता पर जोर देते हुए शुरू किया जिसमें उन्होंने इसे रवींद्रनाथ टैगोर और सुभाष चंद्र बोस जैसे विद्वानों तथा महान नेताओं की भूमि बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *