ट्रंप के समर्थकों की हिंसा के बाद शुरू हुआ इस्तीफों का सिलसिला

Spread the love

व्हाइट हाउस के डिप्टी प्रेस सेक्रेटरी सारा मैथ्यू और मेलानिया ट्रंप की चीफ ऑफ स्टाफ स्टेफनी ग्रीशन ने दिया इस्तीफा

वाशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही देश में नियमित उथल-पुथल मची हुई है और डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक देश के विभिन्न हिस्सों में बड़े पैमाने पर अपना विरोध प्रदर्शन करते आए है। लेकिन यह विरोध प्रदर्शन अब हिंसक रूप में बदलता जा रहा है, जिसके बाद ट्रंप के समर्थकों ने गुरुवार को कैपिटल बिल्डिंग में जमकर हंगामा किया और तोड़फोड़ की। आपको बता दे कि अमेरिकी संसद में हुए तोड़फोड़ के बाद ट्रम्प प्रशासन के कई महत्वपूर्ण लोगों ने इसके खिलाफ अपना विरोध जाहिर कर अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है।

आपको बता दे कि ट्रंप समर्थकों के हंगामे के बाद व्हाइट हाउस के डिप्टी प्रेस सेक्रेटरी सारा मैथ्यू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इसके अलावा फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप की चीफ ऑफ स्टाफ स्टेफनी ग्रीशन ने भी अपना पद छोड़ दिया है। अमेरिकी संसद के दोनों सदन यानी सीनेट में गुरुवार को इलेक्टोरल कॉलेज के वोटो की गिनती और बाइडेन की जीत पर मुहर लगाने के लिए बैठक शुरू हुई। इस बीच डोनाल्ड ट्रंप के सैकड़ों समर्थक संसद के बाहर जुट गए।

वैक्सीनेशन बन गया है मजाक

नेशनल गार्ड्स और पुलिस इन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन कुछ लोग कैपिटल बिल्डिंग के अंदर घुस गए और बड़े पैमाने पर तोड़फोड़ की। इस पूरी हिंसा के दौरान गोली तक चल गई जिसमें एक महिला की मौत हो गई।

गौरतलब है कि अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए 3 नवंबर को चुनाव हुए थे, जिसमें डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन को 306 इलेक्टोरल कॉलेज वोट और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को महज 232 वोट मिले थे। जो बाइडेन 20 जनवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे और डोनाल्ड ट्रंप का कार्यकाल अब सिर्फ दो हफ्ते का रह गया है, लेकिन इस बीच उन्हें तुरंत पद से हटाने की कोशिश हो रही है। डेमोक्रेट्स पार्टी के करीब दो दर्जन से अधिक सीनेटर फिर से महाभियोग लाने की तैयारी में हैं।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *