अमेरिका में भारतीय आईटी पेशेवरों की बढ़ी मुश्किलें, H1B वीजा जल्द हो सकता है सस्पेंड

Spread the love

वाशिंगटन। कोरोना वायरस महामारी के कारण अमेरिका में आर्थिक मंदी और बड़े पैमाने पर बेरोजगार की वजह से देश में काम करे रहे H1B वीजा धारकों की मुश्किलें बढ़ गई हैं।जानकारी के अनुसार अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने H1B वीजा समेत रोजगार देने वाले अन्य वीजा को सस्पेंड करने का पर विचार बना लिया है। आपको बता दे कि H1B वीजा के निलंबन से प्रभावित होने वाले देशों में भारत प्रमुख है क्योंकि आईटी के क्षेत्र में काम करने वाले भारतीय लोगों में इस वीजा की सबसे ज्यादा मांग करने वालों में से हैं।

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इसकी जानकारी अपने हालिया संस्करण में प्रकाशित किया कि अमेरिकी सरकार अगले वित्त वर्ष में H1B वीजा के प्रस्तावित निलंबन को मंजूरी दे सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक यह व्यवस्था देश के बाहर किसी भी नए H1B वीजाधारक के काम करने पर तब तक के लिए प्रतिबंध लगा सकती है, जब तक निलंबन खत्म नहीं हो जाता है। हालांकि जिनके पास देश के भीतर पहले से वीजा है, उनके इससे प्रभावित होने की संभावना नहीं दिखती है।’ गौरतलब है कि H1B वीजा एक नॉन-इमिग्रेशन वीजा है। यह अमेरिकी कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों की नियुक्ति करने की सुविधा देता है। इसमें विशेष तौर पर आईटी के क्षेत्र के पेशेवरों की नियुक्ति की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *