पायलट की गलती से हुआ था कराची प्लेन क्रैश, पूरी उड़ान के दौरान दोनों पायलट कोरोना के विषय पर थे मसरूफ

Spread the love

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में पिछले महीने हुए प्लेन क्रैश की जांच में एक बड़ी लापरवाही का पता चला है। जानकारी के अनुसार यह हादसा पायलट की गैरजिम्‍मेदारी की वजह से हुआ था जिसके चलते 8 केबिन क्रू समेत 97 लोग मारे गए थे। आपको बता दे कि बुधवार को उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने बताया कि यह प्लेन क्रैश टेक्निकल फॉल्ट की वजह से नहीं बल्कि पायलट की वजह से हुए था। सरवर ने कहा कि विमान के कॉकपिट में मौजूद ब्लैक बॉक्स से बरामद रिकॉर्डिंग में यह पता चला है कि हादसे से पहले पायलट कोरोना वायरस को लेकर चर्चा कर रहा था।

आपको बता दे कि पकिस्तान के कराची में 22 मई को हुए प्लेन क्रैश में सिर्फ दो लोग बचे थे। सरवर ने कहा, “पायलट ओवर कॉन्फिडेंट थे। उन्होंने एयरक्राफ्ट पर ध्यान नहीं दिया। एटीसी ने उनसे प्लेन की ऊंचाई बढ़ाने को कहा। जवाब में एक पायलट ने कहा कि वो सब संभाल लेगा। पूरी फ्लाइट के दौरान दोनों पायलट कोरोना वायरस से परिवार को बचाने के बारे में बातचीत करते रहे।” जांच की शुरुआती रिपोर्ट पेश करते हुए सरवर ने आगे कहा, “हादसे के लिए जो भी जिम्मेदार हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। पायलट्स ने तीन बार लैंडिंग गियर खोले बिना उतरने की कोशिश की। इससे प्लेन के इंजिन खराब हो गए। बाद में एयरक्राफ्ट क्रैश हो गया। हमारे पास पायलट्स और एटीसी की बातचीत का पूरा रिकॉर्ड है। मैंने खुद ये सुना है।” सरवर ने पीआईए के बारे में चौंकाने वाला खुलासा किया। कहा, “हमारी सरकारी एयरलाइंस में 40% पायलट ऐसे हैं जो फर्जी लाइसेंस से एयरक्राफ्ट उड़ा रहे हैं। इन लोगों ने न तो कभी एग्जाम दिया और न इनके पास फ्लाइंग एक्सपीरिएंस है। इनकी भर्ती में सियासी दखलंदाजी होती है। 4 पायलट्स की तो डिग्री भी जाली पाई गईं हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *