सीमावर्ती जिलों में टिड्डी नियंत्रण को लेकर राज्य सरकार गंभीर: राजस्व मंत्री

यह टिड्डियों इन सीमावर्ती इलाको से होते हुयें नागौर, पाली, अजमेर, पुष्कर तक पहुंच गई हैं जिनको नष्ट करने की कार्यवाही टिड्डी विभाग द्वारा की जा रही हैं।

Spread the love

जैसलमेर। देश में चल रही कोरेना महामारी के साथ अब पाकिस्तान की सीमा से आ रही करोड़ो टिड्डियों की नई समस्या लगातार भयावह होती जा रही हैं। पाकिस्तान की लगती सीमा से जैसलमेर, बाड़मेर गंगानगर के सामने से आ रही यह टिड्डिया अब देेश के अन्य भागो में छाने लगी हैं। यह टिड्डियों इन सीमावर्ती इलाको से होते हुयें नागौर, पाली, अजमेर, पुष्कर तक पहुंच गई हैं जिनको नष्ट करने की कार्यवाही टिड्डी विभाग द्वारा की जा रही हैं। टिड्डियों का एक और दल बाड़मेर शहर में पूरे इलाके में फैल गया जिसे स्थानीय लोगो ने फटाके छोड़कर, थाली बर्जन बजाकर भगाया।

केंद्र सरकार ने जल्दी की इन टिड्डियों पर नियंत्रण करने के कदम नही उठाये तो कोरेना महामारी की तरह यह टिड्डियां देष के कई भागो में फैल जायेगी जिन पर नियंत्रण भी करना काफी मुष्किल हो पायेगा क्योंकि पाकिस्तान के बलुचिस्तान, पंजाब एवं सिंध प्रान्त से भारी मात्रा में टिड्डियों का माईग्रेषन भारत की तरफ हो रहा हैं। पाकिस्तान इन टिड्डियों को कंट्रोल करने में नाकामयाब रहा खासकर सबसे अधिक चिन्ता तो राजस्थान के अकाल से प्रभावित कई जिलो के पशु पालको को हो रही हैं क्यांकि यह टिड्डिया पशुओं के चारागृह को नष्ट कर रही हैं, इससे पशुओं के लिए चारे की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं।

उधर राजस्व मंत्री हरीश चैधरी ने कहा कि सीमावर्ती जिलों में टिड्डी नियंत्रण को लेकर राज्य सरकार गंभीर है और हरसंभव संसाधन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जिन किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है उन्हें स्पेशल गिरदावरी के निर्देश दे दिए हैं, जल्द ही किसानों को मुआवजा मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *