Delhi : सीरियल किलर ‘रविंदर’ को उम्रकैद ,तीस बच्चियों की मौत का दोषी

रोहिणी अदालत ने नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म व हत्या के सीरियल किलर रविंदर कुमार को छह साल के बच्चे के अपहरण,हत्या और शारीरिक हमले के मामले में दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। रोहिणी अदालत के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश के समक्ष पुलिस ने तर्क रखा था की रविंदर एक मनोरोगी हत्यारे के रूप में एक सीरियल किलर है और उसने 2008 से 2015 के बीच में 30 नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म और हत्या की है।ऐसे में उसे आजीवन कारावास की सजा दी जा रही है।

दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया था की आरोपी रोज़गार की तलाश में यूपी के कासगंज से दिल्ली आया था। उसकी माँ पेशे से एक घरेलू सहायिका थी,जो लोगों के घरो में काम करके जीवन व्यतीत कर रही थी। जबकि आरोपी के पिता प्लम्बर का काम करते थे। जब आरोपी दिल्ली आया तो उसे ड्रग की लत लग गई और उसके हाथ एक अश्लील फिल्म का वीडियो टेप लग गया। उसने जल्द ही एक भयानक दिनचर्या अपना ली। रविंदर कुमार दिन भर मजदूरी करता था और रात को नशा करता था। वह आठ बजे से आधी रात के बीच एक झुग्गी में सो जाता और फिर उठकर बच्चों की तलाश में निकल जाता। यह उसकी एक आदत सी बन चुकी थी और यह आदत 2008 से बनी हुई थी। उस वक़्त उसकी उम्र 18 साल की थी। शिकार की तलाश में वह कभी-कभार झुग्गियों और निर्माण क्षेत्रों के माध्यम से 40 किलोमीटर तक चला जाता था।

आरोपी 2008 से 2015 के बीच 30 बच्चों के अपहरण और हत्या में कथित रूप से शामिल था। केवल तीन मामलों की सुनवाई हुई। दोषी को ड्रग्स लेने,अश्लील फिल्मों को देखने और फिर छोटे बच्चों की तलाश करने की आदत बनाई हुई थी। वह नाबालिगों के साथ मारपीट भी करता था और फिर उन्हें बेरहमी से हत्या करके उन्हें मार दिया करता था।

दिल्ली पुलिस ने 2014 में रविंदर कुमार को 6 साल की बच्ची के अपहरण,हत्या के प्रयास और शारीरिक शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया था। आरोपी ने बच्ची का अपहरण करके उसे सीवेज टैंक में फेंक दिया था। जब पुलिस ने 2015 में छह साल की बच्ची के मामले में सीसीटीवी कमरे की जाँच की तथा मुखबिरों से पूछताछ की तो फिर रविंदर को हिरासत में लिया गया। उस दिल्ली के रोहिणी में सुखबीर नगर बस स्टॉप से गिरफ़्तार कर लिया गया।

जानकारी के मुताबिक यह पता चला की रविंदर कुमार ने अपने रिश्तेदारों के बच्चों को भी नहीं बख्शा था। उसने अपनी चाची के एक रिश्तेदार के दो बच्चों को निशाना बनाने की बात कबूली थी। इतना ही नहीं उसने पुलिस को ऐसे 15 जगहें दिखाई जहाँ से वो अपने अपराधों को अंजाम दिया करता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *