रामलीला मैदान में एकत्रित हुए हज़ारो किसान , सरकार के सामने रखे कई मांगे

किसानो को आज अपने हक़ के लिए लड़ते-लड़ते डेढ़ साल होने वाले हैं लेकिन सरकार उनकी मांगो के अनसुना करती दिख रही है। 20 मार्च 2023 को किसानो द्वारा प्रर्दशन किया गया जिसमे हज़ारों की संख्या में किसान एकत्रित हुए जिन्होंने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। केंद्र को 9 दिसंबर, 2021 को हमें लिखित में दिए गए आश्वासनों को पूरा करना चाहिए और किसानों के सामने लगातार बढ़ते संकट को कम करने के लिए प्रभावी कदम उठाने चाहिए। SKM ने केंद्र के अब निरस्त किए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ एक साल से अधिक लंबे आंदोलन का नेतृत्व किया था। आंदोलन के दौरान किसानों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने और एमएसपी की कानूनी गारंटी सहित किसानों की लंबित मांगों पर विचार करने के सरकारी आश्वासन के बाद दिसंबर 2021 में इसने आंदोलन को स्थगित कर दिया।

 

किसानों की मांगे : (1) किसानों के ऊपर से क़र्ज़ हटा दिए जाएं।
(2) कृषि क्षेत्र में विदेशी निवेश पर रोक जितनी जल्दी हो सके रोक लगे।
(3) पम्पिंग सेट के लिए किसानों को 300 यूनिट मुफ्त बिजली।
(4) हर किसान को ₹5,000 प्रति माह पेंशन दी जाए।

हरिंद्र ताऊ से खास बातचीत में उन्होंने दिल्ली अप टू डेट के संवादता से कहा की यह आज शान्तिपूरवक प्रदर्शन करेंगे और सारे किसानो को एकजुट करा गया। 30 मार्च को सभी किसानों के पदाधिकारों की मीटिंग होगी जिसके बाद वह किसी नतीजे पर उतरेंगे और कहा गया की अगर सरकार उनकी बात नहीं सुनती है तोह वह बहुत बड़ा प्रदर्शन करने वाल हैं जिसमे हर प्रदेश से आये किसान , व्यापारी , मजदूर , आदि सबको एकत्रित कर प्रदर्शन करंगे जिनकी संख्या लाखों में हो सकती है।

इसी प्रदर्शन के चलते कई लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा हैं जिसकी वजह किसान के आवाजाही को बताया गया। लोगों को भरी ट्रैफिक भी देखने को मिली है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, महाराजा रणजीत सिंह मार्ग, मीरदर्द चौक, दिल्ली गेट, जेएलएन मार्ग, मिंटो रोड आर/एल, आर/ए कमला बाजार जैसे कुछ डायवर्जन प्वाइंट हैं। हमदर्द चौक, अजमेरी गेट, भवभूति मार्ग, चमन लाल मार्ग, पहाड़गंज चौक पर भारी ट्रैफिक देखने को मिली। 19 मार्च को दिल्ली पुलिस द्वारा जारी नोटिस में कहा गया की 20 मार्च को सुबह 9 बजे से इन सड़कों और आसपास की सड़कों/खिंचावों पर यातायात प्रतिबंध/विनियमन/डायवर्जन लगाया जा सकता है, बाराखंभा रोड से गुरु नानक चौक तक रणजीत सिंह फ्लाईओवर, मिंटो रोड आर/एल से कमला बाजार तक आर/एल से विवेकानंद मार्ग, जेएलएन मार्ग (दिल्ली गेट से गुरु नानक चौक), कमला मार्केट से गुरु नानक चौक, चमन लाल मार्ग, अजमेरी गेट से आसफ अली रोड, पहाड़गज चौक और आर/ए जंदेवलन, देश बंधु गुप्ता रोड से अजमेरी दरवाज़ा तक हो सकती है।
इसी बीच , किसानों से खास बात-चीत में उन्होंने कहा की लखीमपुर खेरी में किये गए अपराध में दोषी कभी तक सजा नहीं मिली है जिसके चलते किसानों में आक्रोश भी दिखा। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में पुलिस ने शुक्रवार 3 अक्टूबर को हुई हिंसा में एक ड्राइवर और दो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं की कथित तौर पर हत्या करने के आरोप में चार किसानों के खिलाफ चार्जशीट दायर की जिसके कारण केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार किया गया, और संसद में गतिरोध का कारण बना क्योंकि विपक्षी सदस्यों ने पिछले महीने मंत्री को हटाने के लिए मजबूर किया था।

Arit
Author: Arit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *