खालिस्तानी समर्थक बलविंदर सिंह विर्क उर्फ जय सिंह

पिछले 30 साल से है Most Wanted Criminal

हॉलिवुड से लेकर बॉलीवुड तक की दुनिया मे समय-समय पर अंडरवर्ल्ड व अपराध का साया मंडराता रहता है।पिछले साल मशहूर पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या को आज तक कोई नहीं भूला है। जिसने न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया को झकझोर कर रख दिया था।

कनाडाई गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के आदेश पर युवा गायक की निर्मम हत्या ने ये साबित कर दिया है कि अभी भी कई गैंगस्टर व अराजक तत्व विदेशी जमीन से अपना पूरा गैंग चला रहे है और भारत में अशांति फैला कर अपना खौफ दिखाते रहते है। हाल ही में एक ऐसा ही एक ताज़ा मामला सामने आया है] जिसकी चर्चा विदेशी मीडिया में तो काफी छाई हुई है लेकिन भारतीय मीडिया की नज़रों से अभी तक ये मामला दूर है।

बलविंदर सिंह उर्फ जय सिंह बॉलीवुड सिंगर अरिजीत सिंह के साथ

तो चलिए आपको रूबरू करवाते है इस ताज़ा मामले से] जो जुड़ा हुआ है जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क से। मूल रूप से पंजाब का रहने वाला जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क यूएस बेस्ड शो ऑर्गेनाइजर है जिसे पंजाब के कई आपराधिक मामलों में संलिप्त होने के चलते] चंडीगढ़ पुलिस ने उसे मोस्ट वांटेड घोषित किया हुआ है और वह 30 से अधिक वर्षों से फरार है। अमेरिका आने के बाद भी जय सिंह बाज नहीं आया और उसने अपना अवैध कारोबार जारी रखा। उसने यहां एक डीवीडी स्टोर शुरू किया। जहां वो बॉलीवुड फिल्मों की पायरेटेड डीवीडी बेचा करता था।

साल 2003 में स्थानीय अधिकारियों का ध्यान उसके अवैध गतिविधियों की ओर गया और फ्रीमोंट पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया और उसे अदालत में पेश किया गया। लेकिन इस दौरान जय सिंह ने अमेरिका में शरण के लिए आवेदन किया और यह कहते हुए अमेरिका में रहने की अनुमति मांगी कि अगर उसे भारत वापस भेज दिया गया तो उसे अपनी जान का खतरा है। आगे चल कर जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क ने अमेरिका मे भारतीय सिंगर्स के शो व कॉन्सेर्ट करवाने मे अपने हाथ आजमाये और जिसके चलते शो ऑर्गेनाइजर के नाते जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क को प्रसिद्ध बॉलीवुड गायक जुबिन नौटियाल का अमेरिका में कॉन्सर्ट के आयोजन का जिम्मा मिला था लेकिन शो की बुकिंग और टिकट बेचने को लेकर हुई अनियमितताओं के चलते जुबिन नौटियाल का अमेरिका में कॉन्सर्ट लास्ट मोमेंट में कैंसिल कर दिया गया था। जिसका मुख्य कारण था शो की टिकटों मे पैसों की बड़ी धांधली हुई थी  जिसके बाद कई बॉलीवुड और म्यूजिक इंडस्ट्री से जुड़ी फेडरेशनों ने जय सिंह को प्रतिबंधित भी कर दिया था।

जानकारी के अनुसार जय सिंह की पत्नी कुलविंदर कौर ही उसके सभी अवैध कारोबार को संभालती है और जय सिंह के अमेरिका के कई अपराधियों और गैंगस्टरों के साथ घनिष्ठ संबंध हैं। वहीं भारत में जय सिंह पर ड्रग्स और वीडियो पाइरेसी के कई मामले चल रहे है और विदेश भाग जाने के चलते वह 30 से अधिक सालों से पुलिस की पकड़ से बचा हुआ है। जबकि अमेरिका में जय सिंह कई बार गिरफ्तार हो चुका हैं और साल 2019 में भी वह सलाखों के पीछे रह कर आ चुका है।

बलविंदर सिंह उर्फ जय सिंह पाकिस्तानी आईएसआई एजेंट रेहान सिद्दीकी के साथ

ऐसी भी कई जानकारियां है कि जय सिंह के प्रतिबंधित खालिस्तानी संगठन के साथ संबंध है और कुछ पंजाबी गायकों व पाकिस्तानी कलाकारों के जरिए वह उनके लिए धन की व्यवस्था भी करता है। साथ ही] कई रिपोर्ट्स के अनुसार जय सिंह ड्रग डीलिंग] फिल्म पायरेसी] मानव तस्करी] जबरन वसूली के साथ-साथ हवाला रैकेट में भी शामिल है और उसके पाकिस्तान से संबंध है और वह खालिस्तान गतिविधियों में शामिल है और यह कहना भी गलत नहीं होगा कि जय सिंह भारत की सुरक्षा के लिए भी एक बड़ा खतरा बन गया है] क्योंकि वह विदेशों में खालिस्तान जैसे अलगाववादी संगठनों को वित्तीय और अन्य सहायता प्रदान कर रहा है और उसके संबंध पाकिस्तान से भी हैं।

इसके अलावा जय सिंह के पाकिस्तान के आईएसआई एजेंट रेहान सिद्दीकी से भी करीबी संबंध हैं और रेहान टेक्सास में रह रहा है और वह भी विभिन्न अवैध व्यवसायों में शामिल है। जय सिंह रेहान की सहायता से भारत में खालिस्तान जैसे अलगाववादी समूहों को फंडिंग मुहैया कराता है और इसके बदले में जय सिंह देश की कई संवेदनशील जानकारी रेहान सिद्दीकी के साथ साझा करता है। जो अतीत में आतंकवादी गतिविधियों और देश पर हमलों का कारण भी है। आपको बता दे आने वाले मई महीने मे जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क आईएसआई एजेंट रेहान सिद्दीकी के साथ मिलकर पाकिस्तानी सिंगर राहत फ़तेह अली खान के शो करवाने जा रहा है। सूत्रों के हवाले से मिली खबरों के अनुसार राहत अली खान के शो पर भारत सरकार की नज़र रहेगी।

जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क 80 के दशक से ही खालिस्तानी संगठन का सक्रिय सदस्य है और उस समय देश में काफी अशांति का माहौल हुआ करता था। पुलिस द्वारा पकड़े जाने के डर से वह अमेरिका भाग आया था और यहां के एक प्रान्त के फ्रीमोंट काउंटी में उसने एक समूह भी बनाया जहाँ से वह भारत में खालिस्तान आंदोलन का समर्थन व वित्त पोषण प्रदान भी करता है। आपको यह भी बता दे कि खालिस्तान आंदोलन में सक्रिय भागीदार होने के दौरान, जय सिंह उर्फ़ बलविंदर सिंह विर्क को “फौजी” नाम से भी जाना जाता था।

Harnam
Author: Harnam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *