Share Market Update: आखिर में लुढ़का बाजार, सपाट बंद हुए सेंसेक्स-निफ्टी, इनमें दिखी गिरावट

Sensex and Nifty: सेंसेक्स का पिछला बंद 61764.25 अंक था. वहीं आज सेंसेक्स ने 62027.51 अंक का हाई लगाया. हालांकि आखिर में सेंसेक्स 2.92 अंक (0.0047%) की गिरावट के साथ 61761.33 के स्तर पर बंद हुआ. इसके अलावा निफ्टी का पिछला बंद 18264.40 अंक रहा. वहीं आज निफ्टी का हाई 18344.20 अंक रहा.

Stock Market: शेयर बाजार में आज शुरुआती कारोबार के दौरान बाजार में तेजी देखने को मिली. पहले कारोबारी सत्र में आज सेंसेक्स और निफ्टी में तेजी देखी गई लेकिन दूसरी हाफ में बाजार में गिरावट आ गई, जिसके कारण सेंसेक्स और निफ्टी ने अपनी बढ़त गंवा दी. बाजार में आज कई सेक्टर्स दबाव में देखे गए, जिसके कारण आखिर में सेंसेक्स और निफ्टी सपाट बंद हुए.

How to Recover After a Loss in the Stock Market | Investing | U.S. News
सेंसेक्स का पिछला बंद 61764.25 अंक था. वहीं आज सेंसेक्स ने 62027.51 अंक का हाई लगाया. हालांकि आखिर में सेंसेक्स 2.92 अंक (0.0047%) की गिरावट के साथ 61761.33 के स्तर पर बंद हुआ. इसके अलावा निफ्टी का पिछला बंद 18264.40 अंक रहा. वहीं आज निफ्टी का हाई 18344.20 अंक रहा. इसके साथ ही निफ्टी 1.55 अंक (0.0085%) की तेजी के साथ 18265.95 के स्तर पर बंद हुई.

टॉप गेनर्स- टॉप लूजर्स

सेंसेक्स की कंपनियों में आईटीसी, भारतीय स्टेट बैंक, बजाज फाइनेंस, एनटीपीसी, पावरग्रिड, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक और अल्ट्राटेक सीमेंट प्रमुख रूप से नुकसान में रहे. दूसरी तरफ इंडसइंड बैंक, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एक्सिस बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, एशियन पेंट्स, विप्रो, एचडीएफसी और मारुति में तेजी देखने को मिली.

विदेशी बाजार

The NIFTY 100 Equal Weight Index As a Mutual Fund Benchmark
एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में जबकि जापान का निक्की लाभ में रहा. यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा. अमेरिकी बाजार में सोमवार को मिला-जुला रुख रहा. शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक सोमवार को शुद्ध खरीदार रहे. उन्होंने 2,123.76 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे.

कमजोर वैश्विक धारणा

दरअसल, कमजोर वैश्विक धारणा के कारण घरेलू बाजार ने अपनी बढ़त को गंवा दिया. आगामी अमेरिकी मुद्रास्फीति के आंकड़े वैश्विक बाजार के रुझान को निर्धारित करने में केंद्र बिंदु बन गए हैं. हालांकि एफआईआई से निरंतर समर्थन मिल रहा है, जिसके कारण आज घरेलू बाजार को भारी गिरावट से बचा लिया गया. इस बीच, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.88 प्रतिशत की गिरावट के साथ 76.33 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया.

 

रुपया

वहीं रुपये में तेज उछाल यह संकेत दे सकता है कि अगर रुझान जारी रहता है तो विदेशी निवेशक स्थानीय शेयरों को बेच सकते हैं. अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में मंगलवार को रुपया अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 27 पैसे की गिरावट के साथ 82.05 (अस्थायी) प्रति डॉलर रह गया. प्रमुख प्रतिद्वंद्वी मुद्राओं की तुलना में डॉलर के मजबूत होने और घरेलू शेयर बाजार में कमजोरी के रुख से रुपये में यह गिरावट आई.

How to Make Money Online: See 32 Ways to Make Money Fast | Entrepreneur

Shivam Sharma
Author: Shivam Sharma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *