तीस हजारी कोर्ट गोलाबाज़ी में तीन वकील गिरफ्तार, लाइसेंस भी निलंबित

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट परिसर में बुधवार को गोली चलने की खबर आई थी। बता दे की दोपहर में दूसरे पक्ष की ओर से गोलियां चलाई गईं थीं। दिल्ली बार एसोसिएशन (डीबीए) के सचिव अतुल शर्मा के साथियों में से हेलमेट पहने एक शख्स ने तीन से चार गोलियां चलाई थीं। आरोपी की पहचान करने की कोशिश की जा रही है। घटना के बाद वीडियो वायरल हो रहा है। पुलिस ने जाँच के बाद वकील अमन सिंह, रवि गुप्ता और सचिन सांगवान को गिरफ्तार कर तीन से चार दिन के रिमांड पर लिया है। आरोपियों के पास से 3 तमंचे, 4 कारतूस और 2 कारें जब्त की गई हैं। दूसरी तरफ बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने मामले की जाँच के लिए कमेटी का भी गठन कर दिया है।

delhi police says firing at tis hazari court premises in delhi - VIDEO: तीस  हजारी कोर्ट परिसर में फायरिंग, वकीलों के दो गुटों के बीच झड़प के बाद चली  गोलियांपुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए की थी टीम गठित किया है।
आरोपी बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के प्रतिद्वंद्वी समूह से हैं। अन्य आरोपी वकीलों की भी पहचान कर ली गई है। उन्हें गिरफ्तार करने के लिए अलग-अलग टीमें काम कर रही हैं। तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया गया है। वीडियो में दिखाई दे रहे डीबीआर के उपाध्यक्ष मनीष शर्मा के बारे में बुधवार शाम तक कुछ पता नहीं लगा था। मनीष को पकड़ने के लिए दिल्ली व एनसीआर में दबिश दी जा रही है। जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी ने कहा कि मामले में सब्जी मंडी थाने में दंगा भड़काने, गोली चलाने, आर्म्स एक्ट समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है। सेंटर डिस्ट्रिक कोर्ट के ब्रांच इंस्पेक्टर सुनील कुमार की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है। तीन वकीलों को गिरफ्तार किया गया है। बाकी की पहचान कर ली गई है। सीसीटीवी फुटेज निकलवाई है।

Staff Reporter
Author: Staff Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *