एल्विश यादव पर लगा सापो के तस्करी का आरोप, एफआईआर दर्ज, जानिये किन धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा, क्या जाना पड़ सकता है जेल?

 

यूट्यूबर और बिग बॉस ओटीटी-2 के विजेता एल्विश यादव के खिलाफ नोएडा के सेक्टर-49 में मुकदमा दर्ज हुआ है। उन पर जहरीले सांपों की तस्करी करने और गैर कानूनी रूप से रेव पार्टी आयोजित करवाने का आरोप लगा है। एल्विश यादव पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने सापों की तस्करी की है। वह इनके जहर का इस्तेमाल करते हैं। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने 20 मिलीलीटर जहर और नौ जिंदा सांप बरामद किए गए हैं। राजनीतिज्ञ और पशु अधिकार कार्यकर्ता मेनका गांधी ने एल्विश यादव की गिरफ्तारी की मांग की है।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान दिल्ली के राहुल (32), टीटूनाथ (45), जयकरन (50), नारायण (50) और रविनाथ (45) के रूप में हुई। इन्होंने पूछताछ में बताया कि वे इन सांपों व स्नैक वेनम का इस्तेमाल रेव पार्टी के लिए करते हैं।

आरोपियों के पास से बरामद हुआ ये सामान
बरामद किए गए सांपों में पांच कोबरा, दो दुमुंही, एक अजगर और एक रेट स्नेक (घोड़ा पछाड़) शामिल है। बताया जा रहा है कि इन सांपों के जहर का इस्तेमाल पार्टी में किया जाता था। मामले में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संदीप चौधरी का कहना है कि पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। एल्विश यादव समेत छह नामजद और कुछ अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। पूरे मामले में एल्विश यादव की संलिप्तता को लेकर जांच की जा रही है।

किन धाराओं में दर्ज हुआ मामला
एल्विश यादव के अलावा अन्य आरोपियों के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की विभिन्न धाराओं और आईपीसी की धारा-120बी के तहत केस दर्ज किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में जो धाराएं लगाई गईं हैं वो गैर जमानती हैं। इस मामले को लेकर अभी एल्विश की तरफ से कुछ प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

किसने कराई एफआईआर?

एल्विश समेत अन्य आरोपियों पर सांसद मेनका गांधी की संस्था पीपल फॉर एनिमल में एनिमल वेलफेयर में ऑफिसर के पद पर कार्यरत गौरव गुप्ता ने एफआईआर कराई है। उन्होंने पुलिस को बताया कि यूट्यूबर एल्विश यादव अन्य सदस्यों के साथ मिलकर स्नेक वेनम और जिंदा सांपों के साथ वीडियो शूट कराते हैं और गैर कानूनी रूप से रेव पार्टियों को अंजाम देते हैं। जिसमें विदेशी युवतियों को बुलाकर स्नेक वैनम और नशीले पदार्थों का सेवन कराते हैं। जिसके बाद हमारे मुखबिर ने एल्विश यादव से संपर्क किया। एल्विश ने एक एजेंट का नंबर दिया, जिसका नाम उन्होंने राहुल बताया। मुखबिर ने राहुल से संपर्क करके पार्टी आयोजित करने के लिए बुलाया। जिसके सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस की मदद से आरोपियों को पकड़ा गया।

मेनका गांधी ने एल्विश की गिरफ्तारी की मांग की
राजनीतिज्ञ और पशु अधिकार कार्यकर्ता मेनका गांधी ने एल्विश यादव को किंगपिन (सरगना) बताया है। उन्होंने कहा है एल्विश की गिरफ्तारी जरूर हो। मेनका ने कहा है कि एल्विश को सात साल की सजा होनी चाहिए।

Mehak Bharti
Author: Mehak Bharti

Leave a Comment