लोकसभा में हमले की बरसी पर हुआ नया बवाल, दो लोगो ने संसद में किया धुँआ धुँआ

 

संसद में आज कुछ ऐसा हुआ जो आज तक न कभी होते देखा गया ना ही सुना गया। लोकसभा में उस समय हड़कंप मच गया, जब विजिटर गैलरी से एक विजिटर लोकसभा में कूद गया। जिसके बाद अफरा-तफरी मच गई और लोकसभा को स्थगित कर दिया गया।

दरअसल दो शख्स जब गैलरी से कूद सदन में पहुचे तो सदन में धुआं धुआं हो गया, अफरा-तफरी मची और सुरक्षाकर्मियों ने दोनों लोगों को पकड़ा। सांसदों ने बताया कि सबसे पहले खुद सांसदों ने दोनों लोगों को पकड़ा इसके बाद उन्हें सुरक्षाकर्मियों के हवाले कर दिया गया।
गौरतलब है की आज 13 दिसंबर है और आज संसद हमले की बरसी है, संसद की सुरक्षा में यह लापरवाही उस दिन हुई है जब लोकतंत्र के मंदिर पर आतंकी हमले की 22वीं बरसी है। 22 साल पहले आज ही के दिन यानी 13 दिसंबर 2001 को संसद पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें सुरक्षाकर्मियों समेत नौ लोग मारे गए थे और 18 लोग घायल हुए थे। ऐसे में इस घटना को सुरक्षा में एक बड़ी चूक माना जा रहा है। ऐसी लापरवाही पर कई सवाल खड़े होते हैं।

इस पूरी घटाना पर समाजवादी पार्टी सांसद डिंपल यादव का कहना है की, ‘जो भी लोग यहां आते हैं, चाहे वे आगंतुक हों या पत्रकार वे टैग नहीं रखते हैं। इसलिए, मुझे लगता है कि सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए। मुझे लगता है कि यह पूरी तरह से सुरक्षा में चूक है। लोकसभा के अंदर कुछ भी हो सकता था’।

आपको बता दें जानकारी के अनुसार, मैसूर के भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा की सिफारिश पर मिला पास लेकर ये दोनों अंदर आए थे। पहले तो संसद भवन के सामने  महिला और पुरुष ने नारेबाजी करते हुए आसू गैस का उपयोग किया। जिसके बाद पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया। दोनों का कहना है कि उनकी बात नहीं सुनी जा रही है।  प्रदर्शनकारी महिला नीलम (42) हिसार की रहने वाली है। वहीं, युवक अमोल शिंदे (25) महाराष्ट्र के लातूर का रहने वाला है।

Saumya Mishra
Author: Saumya Mishra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *