दिल्ली :महिलाओं को देख चालक ने नहीं रोकी बस तो ड्यूटी से हटाया, सीएम ने डीटीसी बस चालकों से की यह अपील

 

महिलाओं के डीटीसी बसों में निशुल्क सफर की सुविधा को देखकर क्लस्टर बस नहीं रोकने का बृहस्पतिवार सुबह सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ। मामला संज्ञान में आने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे गंभीरता से लिया और चालक के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। साथ ही, भविष्य में ऐसी घटना दोबारा न हो इसके लिए परिवहन मंत्री को जरूरी कदम उठाने को कहा। वहीं, इसके एक घंटे के दरम्यान चालक को ड्यूटी से हटा दिया गया।

परिवहन मंत्री ने विभाग के आला अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बस चालकों व दूसरे कर्मियों को महिलाओं सहित तमाम यात्रियों के प्रति संवेदनशील बनाने पर जोर दिया। मंत्री ने निर्देश दिया कि किसी भी स्थिति में महिलाएं अगर स्टॉप पर हैं तो बस जरूर रोकें। मुख्यमंत्री ने इस मामले को देखते हुए सभी बस चालकों व कर्मियों से सभी यात्रियों के प्रति संवेदनशील व्यवहार करने की मार्मिक अपील भी की है। उन्होंने कहा कि सभी चालक तयशुदा बस स्टैंड पर बसें जरूर रोकें। ऐसी कुछ शिकायतें मिली हैं कि महिलाओं को देखकर कुछ चालक बस नहीं रोकते हैं। यह सही नहीं है।

पहले भी मिली थी ऐसी शिकायते
परिवहन मंत्री ने कहा कि इस तरह की कुछ शिकायतें पहले भी आई थीं, लेकिन तब हमारे पास सर्विसेज विभाग नहीं था। इस वजह से दिल्ली सरकार इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं कर पाई थी। अब सेवा विभाग दिल्ली सरकार के पास है, इसलिए इस मामले में कार्रवाई की गई है। सभी बस चालकों को संवेदनशील बनाया जा रहा है, ताकि दोबारा ऐसी घटना न हो।
बस नहीं रोखने वाले बर्दाश्त नहीं : सीएम
सुबह 11:20 बजे मुख्यमंत्री ने एक वीडियो ट्वीट किया था। इसमें चार-पांच महिलाएं बस रोकने की कोशिश करती दिख रही हैं। बस रोकने के लिए हाथ दिखा रही हैं, फिर भी चालक ने अनदेखी की। उन्होंने कहा कि यह बहुत गंभीर मामला है। ऐसी शिकायतें आ रही हैं कि कुछ चालक महिलाओं को देखकर बस नहीं रोकते हैं, क्योंकि महिलाओं के लिए बसों में निशुल्क सफर की सुविधा है। इसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
पिंक पास का 112 करोड़ महिलाओ ने उठाया लाभ
मुख्यमंत्री के नेतृत्व में दिल्ली सरकार ने सभी महिलाओं के लिए डीटीसी की बसों में निशुल्क सफर की सुविधा मुहैया कराई है। इसके तहत किसी भी रूट पर डीटीसी और क्लस्टर बसों में महिलाएं पिंक पास पर सफर कर सकती हैं। सभी बस चालकों को सख्त निर्देश दिए गए थे कि महिलाओं को बस में सफर के दौरान कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। योजना की शुरुआत 2019 में की गई थी। अब तक इस योजना के तहत दिल्ली सरकार की बसों में 112 करोड़ से ज्यादा बार महिलाएं पिंक पास का इस्तेमाल कर चुकी हैं। दिल्ली में फिलहाल डीटीसी और क्लस्टर की कुल 7379 बसें हैं।
Staff Reporter
Author: Staff Reporter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *